वन्य जीव व पर्यावरण संरक्षण के लिए आमजन को प्रेरित करेगे कुमावत

PALI SIROHI ONLINE

वन्य जीव व पर्यावरण संरक्षण के लिए आमजन को प्रेरित करेगे पर्यावरण प्रेमी ओमप्रकाश कुमावत

सुमेरपुर के समीपवर्ती जवाई डुब क्षेत्र में बसे दुदनी गाँव में एक व्यक्ति एक पौधा मिशन संचालक पर्यावरण प्रेमी ओमप्रकाश कुमावत की प्रेरणा से गाँव वासियों ने राष्ट्रीय पेड बरगद का रोपित कर पर्यावरण जागरूकता का संदेश दिया, लाकडाउन में लोग अपने घरो में सुरक्षित है लेकिन वन्य जीव व पशु पक्षी की इस भीषण गर्मी भुख, प्यास से ना मरे इसलिए
पौधा मिशन लोगों को पर्यावरण व वन्य जीवों के संरक्षण के लिए प्रेरित कर रहे हैं , जवाई लेपर्ड क्षेत्र में जंगलो में वन्य जीवो की हलक तर प्यास बुझाने के लिए 5 टैंकर पानी जगलात क्षेत्र में बने वाटर हाल,में पानी भरा,

कार्यक्रम से पुर्व भगवान सिंह छोटी दुदनी, भीमसिंह सिसोदिया, मनाराम देवासी ने बताया कि जनसहयोग से चीटिंयो ने लिए 1500 किलो खाद्य सामग्री वितरण की।

लाकडाउन में पर्यावरण संरक्षण व पशु पक्षियों की सेवा में समर्पित पर्यावरण प्रेमी ओमप्रकाश कुमावत व सहयोगी राजेश कुमार मालवीया जंगलात क्षेत्रों में भ्रमण कर वन्य जीवो के हलक तर के लिए जनसहयोग से 5 टैकर पानी की व्यवस्था ,जंगल में की, ग्लोबल वार्मिंग के कारण भीषण गर्मी में पशु पक्षी की अकाल मृत्यु ना हो पुरी टीम इस कार्य में जुटी हुई है।

जल है तो कल का नारा दिया , साथ ही पशु पक्षियों के खाद्य सामग्री वितरण व कुमावत ने
कोरोना काल में नीम गिलोय, अडुसा, तुलसी के पौधो के महत्व पर प्रकाश डाला, नित्य कर्म में आयुर्वेद को जीवन शैली में अपनाने की अपील की, आक्सीजन की कमी को रोकने का एक मात्र विकल्प पौधा रोपण व संरक्षण बताया, कोरोना महामारी में जंग जीते युद्धाओ से आग्रह है की आपने आक्सीजन की कीमत अच्छी परिचित है इसलिए पीपल, बरगद, गुलर का पौधा लगाये जिससे अन्य लोगों को सकारात्मक ऊर्जा के साथ पौध रोपण की प्रेरणा भी मिलेगी

कार्यक्रम में समाज सेवी भगवान सिंह चौहान, भीमसिंह सिसोदिया, आदाराम देवासी,ठिकमाराम देवासी, भगाराम दैवासी, मनाराम देवासी ,पदम सिंह टापू,एक व्यक्ति एक पौधा मिशन संचालक पर्यावरण प्रेमी ओमप्रकाश कुमावत, उपाध्यक्ष राजेश कुमार मालवीया, समाज सेवी विक्रम सिंह डाबी, सी.ए. चेतन अरोडा, हनुमानराम कुमावत, कानाराम कुमावत, सांवलाराम अग्रवाल, अमृत लाल कुमावत, शिव कुमार अग्रवाल, मुकेश सुथार, पीयूष शर्मा, चम्पालाल कुमावत भारूदा, खेताराम परमार, मोहनलाल कुमावत, दिनेश कुमावत , जीतु कुमार व भरत सिह का सहयोग रहा