तीसरी कोरोना लहर के सदर्भ में यह खबर पढ़ना जरुरी

PALI SIROHI ONLINE

राजस्थान। प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर की तैयारियों के बारे में कलेक्टर्स से बातचीत की। बीकानेर कलेक्टर ने बताया कि तीसरी लहर के लिए बच्चों के विशेष मास्क बनाने होंगे. मौजूदा मास्क उनके लिए पर्याप्त नहीं हैं. इसके अलावा चाइल्ड हास्पिटल को अपग्रेड करने का प्लान बनाया जा रहा है. प्रदेश में गांवों में क्या ब्लॉक स्तर पर भी चाइल्ड हास्पिटल की सुविधा नहीं है. ऐसे में तीसरी लहर का मुकाबला करने के लिए बड़ी तैयारी करनी होगी. खासकर उन 40 लाख से ज्यादा बच्चों के लिए जो शारीरिक रूप से कमजोर हैं।

विशेषज्ञ कोरोना की तीसरी लहर को बच्चों के लिए सबसे बड़ा खतरा बनने की आशंका बता रहे हैं. प्रदेश में यह लहर कब आएगी, इसके बारे में अभी कोई पुख्ता तिथि का खुलासा नहीं हुआ है. लेकिन यह तय है कि इस लहर से शारीरिक रूप से कमजोर, कुपोषित और एनिमिया के शिकार बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे. प्रदेश में ऐसे बच्चों की संख्या 40 लाख से ज्यादा है. इसके बावजूद तीसरी लहर के मद्देनजर गांव ही नहीं, शहरों में भी विशेषकर बच्चों के लिए स्पेशल इंतजाम नहीं है।