तेज बारिश के कारण घग्गर नदी उफान पर, पुल के ऊपर से पानी बहने के चलते भद्रकाली मंदिर के श्रदालु रुके

PALI SIROHI ONLINE

जयपुर। प्रदेश में तेज वर्षा के चलते उदयपुर कोटा और जयपुर भरतपुर संभागों में बारिश की चेतावनी जारी हुई है।

उदयपुर-कोटा में आज और जयपुर-भरतपुर में कल तेज बारिश और बिजली गिरने की आशंका मौसम विभाग ने जताई है। इधर, तेज बारिश के कारण हनुमानगढ़ में घग्गर नदी उफान पर आ गई है। नदी पर बने पुल के ऊपर से पानी बहने के कारण लोग भद्रकाली मंदिर में दर्शन करने के लिए नहीं जा सके।

राजस्थान में रविवार को कोटा, उदयपुर संभाग के डूंगरपुर, झालावाड़, सिरोही, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, भीलवाड़ा, कोटा, बारां, सवाईमाधोपुर, करौली, बूंदी व अलवर जिलों में बारिश और बिजली गिरने की चेतावनी दी गई है। इनमें भीलवाड़ा, कोटा व बारां जिलों में एक-दो जगहों पर भारी बारिश होने की आशंका है। इसी तरह, सिरोही, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, प्रतापगढ़ व बासंवाड़ा जिलों में एक-दो स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश की आशंका है।

जबकि पश्चिमी राजस्थान में जोधपुर, नागौर, चुरू, पाली जिलों में कहीं कहीं पर बारिश, बादल गरजने और बिजली गिरने की आशंका है।

कल जयपुर-भरतपुर संभाग में बारिश की आशंका
मौसम विभाग के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि 26 जुलाई को कोटा, जयपुर व भरतपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की आशंका है। इनमें झालावाड़, कोटा, बूंदी, करौली, दौसा, अलवर जिलों में एक दो स्थानों पर भारी बारिश का पूर्वानुमान है। जबकि, सवाईमाधोपुर व बारां जिलों में एक दो स्थानों पर भारी से अति भारी बारिश होने की आशंका है।

बीकानेर-जोधपुर संभाग में अगले दो दिन होगी हल्की बारिश
बीकानेर और जोधपुर संभाग में कहीं-कहीं हल्के से मध्यम बारिश 26-27 जुलाई को होने के आसार है। पिछले 24 घंटों में प्रतापगढ़, झालावाड़, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर और बांसवाड़ा जिलों में कहीं-कहीं भारी से अति भारी बारिश दर्ज हुई है। पूर्वी राजस्थान में सर्वाधिक अधिकतम बारिश 165 मिमी प्रतापगढ़ जिले के पीपलखूंट तहसील में हुई। बात पश्चिमी राजस्थान की करें तो सर्वाधिक बारिश बाड़मेर जिले के 36 मिमी समदड़ी क्षेत्र में दर्ज की गई।

इन जिलों में बारिश की आशंका
मौसम विभाग ने अगले तीन से चार घंटे में राजस्थान में टोंक, बूंदी, कोटा, बारां, झालावाड़, बीकानेर, जैसलमेर, बाड़मेर, जालौर, राजसमंद, सिरोही, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा व प्रतापगढ़ जिलों और आसपास के क्षेत्रों में कहीं कहीं पर मेघगर्जन के साथ हल्की बारिश की आशंका जताई है।

मानसून की बात करें तो वर्तमान में कम दबाव का क्षेत्र मध्यप्रदेश के उत्तरी भागों के ऊपर स्थित है। मानसून Trough line आज बीकानेर, अजमेर व कम दबाव के एरिया वाले केंद्रों से होकर गुजर रही है। उत्तर पश्चिमी राजस्थान के ऊपर एक परिसंचरण तंत्र (circulatory system) भी वायुमंडल के निचले स्तरों में बना हुआ है।

जयपुर में रविवार को आसमान में काले बादल छाए रहे। तेज धूप भी निकली।
जयपुर में रविवार को आसमान में काले बादल छाए रहे। तेज धूप भी निकली।
चित्तौड़गढ़-हनुमानगढ़ में मूसलाधार बारिश
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक रविवार को उदयपुर संभाग के चित्तौड़गढ़ जिले में तेज बारिश का दौर शुरू हुआ। यहां पिछले कई दिनों से छितराई हुई बारिश हो रही थी, लेकिन शनिवार रात को मूसलाधार बारिश हुई। रविवार सुबह 8 तक तेज बारिश का दौर चला। उदयपुर संभाग के निम्बाहेड़ा, भदेसर, डुंगला, बड़ी सादड़ी में तेज बारिश हुई। कई बांधों, नालों में तेज बहाव से कदमाली नदी में उफान आ गया।

जयपुर में तेज धूप के बीच बादल छाए रहे
जयपुर जिले में तेज धूप निकली। हालांकि, सुबह से आसमान में बादल छाए रहे। अब तक पिछले दो वीकेंड के आसपास जयपुर में देर शाम तक अच्छी बारिश देखने को मिली है। लिहाजा शहरवासियों को आज भी बारिश का इंतजार रहेगा।

रविवार सुबह 8:30 बजे तक प्रमुख शहरों का तापमान
प्रदेश में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा तापमान बीकानेर में 41.4 डिग्री, गंगानगर में 39.6 डिग्री, जैसलमेर में 39.2 डिग्री और नागौर में 39.1 डिग्री दर्ज किया गया। रविवार सुबह 8:30 बजे रिकॉर्ड तापमान में कई जिलों में बारिश के बाद चार से पांच डिग्री तक तापमान में गिरावट देखी गई।