कोरोना वायरस संक्रमण से पशुओं की समुचित चिकित्सा व्यवस्था पर पशुपालन विभाग द्वारा सतत निगरानी शुरू

PALI SIROHI ONLINE

पाली, 08 मई। जिला कलक्टर अंश दीप ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न वैश्विक एवं राष्ट्रीय परिदृश्य के दृष्टिगत पाली जिले में पशुओं की समुचित चिकित्सा व्यवस्था पर पशुपालन विभाग द्वारा सतत निगरानी रखी जा रही है।
उन्होंने कहा कि कोरोना लॉकडाउन से जिंदगी थम सी गई है। इसका असर मूक पशुओं पर पडऩा भी स्वाभाविक है। उन्होंने कोरोना संक्रमणकाल में पशु चिकित्सकों एवं सहायक कार्मिकों द्वारा दी जा रही सेवाओं की प्रशंसा करते हुए उनका आभार व्यक्त किया है।


उन्होंने कहा कि गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन अनुसार पशु चिकित्सालयों, प्रयोगशालाओं में कार्यरत पशु चिकित्सक एवं सहायक कार्मिकों को आवश्यक सेवाओं में शामिल होने के बाद भी फ्रंटलाइन वर्कर्स नहीं माना गया है। विभागीय पशु चिकित्सकों एवं सहायक कार्मिकों को फ्रंट लाईन वर्कर्स में शामिल करने के लिए प्रकरण राज्य सरकार के स्तर पर विचाराधीन है। पशु चिकित्सकों एवं सहायक कार्मिकों द्वारा इन विषम परिस्थितियों में दी जा रही अभूतपूर्व सेवाओं के लिए उनकी सुरक्षा करना हमारा दायित्व है।
उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पशु चिकित्सकों एवं सहायक कार्मिकों को प्राथमिकता के आधार पर टीके लगाने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को 7 मई को पत्र लिखते हुए आग्रह किया गया है कि इस सम्बन्ध में अधीनस्थ कार्यालयों को यथोचित निर्देश प्रदान कराएं।

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए पशु चिकित्सालयों एवं प्रयोगशालाओं में कार्यरत स्टाफ के लिए विभागीय स्तर से 20 हजार मास्क, 15 हजार सैनेटाईजर, 20 हजार पीपीई किट एवं 20 हजार दस्ताने (ग्लव्ज) उपलब्ध कराए गए है। इस सामग्री का आवंटन सभी सम्भाग स्तरीय कार्यालयों को 19 मार्च को किया जा चुका है।
उन्होंने बताया कि लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण और कार्मिकों में लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए सभी पशु चिकित्सा संस्था प्रभारी जिला स्तरीय संयुक्त निदेशक से अनुमति प्राप्त कर जरूरत के अनुसार मास्क, सैनेटाईजर, साबुन आदि खरीद तय राशि अनुसार करने के लिए अधिकृत किए गए हैं। इसके लिए पशुपालन निदेशालय स्तर से 19 लाख 30 हजार रुपये की राशि जिला कार्यालयों को उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने स्वच्छता एवं साफ-सफाई सम्बन्धी सामान्य निर्देशों का अनुपालन करने की अपील करते हुए बताया कि सामान्य निर्देंशों की पालना से हम इस विपदा से निपट पाएंगें।