मंडार में युवाओ ने पशुओं को रोजाना चारे की व्यवस्था करवाने का बीड़ा उठाया

PALI SIROHI ONLINE

मंडार कस्बे में लोक डाउन होने के कारण गांव में विचरण करने वाले बेसहारा पशुओं के सामने चारे की समस्या हो गई हैं। इसे देखते हुए गांव के भामाशाह के सहयोग से तीन चार युवाओ ने गांव में घूमने वाले पशुओं का रोजाना चारे की व्यवस्था करवाने का बीड़ा उठाया है।

युवाओं ने एक टीम का गठन कर सभी जानवरों को विभिन्न तरह के भोजन करवा रहे हैं। हितेश जैन मैं बताया कि इन दिनों लॉकडाउन होने के कारण पूरा कस्बा बंद होने से अब गांव में बंदर और कुत्ते बेसहारा गोवंश समेत अन्य जानवरों के सामने खाने की समस्या हो गई है। जिसको लेकर तीन चार युवाओं ने मिलकर इन सभी जानवरों को दो समय भोजन देने का तय किया जिससे तहत गायों को बाजार में हरा चारा व तरबूज खरबूजा डाले जाते हैं तो वहां आवारा कुत्तों को सुबह के समय हर जगह लड्डू बिस्किट अन्य सामग्री बांटी जाती हैं।

गांव में घूमने वाले बंदरों के लिए आलू वह फल की व्यवस्था तथा पक्षियों का दाना भी डाला जा रहा है। महावीर सिंह देवड़ा हितेश जैन आरिफ असगरी अशरफ भाटी अमृत सेन सहयोग कर रहे हैं। हितेश जैन ने बताया कि जब से लॉकडाउन हुआ है तब से यह कार्य भामाशाह के सहयोग से चल रहा है जिसमें प्रतिदिन एक ट्रैक्टर टोली हरा चारा और आलू व फल लड्डू की व्यवस्था की जा रही हैं सभी भामाशाह का बहुत-बहुत धन्यवाद और आगे भी भामाशाह का सहयोग देते रहेंगे।

मंडार अशरफ भाटी की रिपोर्ट