पाली सांसद चौधरी ने स्वास्थ्य केन्द्र के लिए 30 लाख रूपयों की अनुषंषा की

PALI SIROHI ONLINE

सांसद चौधरी ने बावड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के लिए सांसद निधि कोष से 30 लाख रूपयों की अनुषंषा की

कोरोना मरीजों की सुलभता के लिए 35 बैड क्षमता की आपूर्ति/70 सिलेण्डर भरने की क्षमता वाला ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट होगा स्थापित

पीएम किसान सम्मान निधि की 8वीं किस्त जारी करने पर पाली सांसद पी.पी. चौधरी ने प्रधानमंत्री और कृषि मंत्री का जताया आभार

नई दिल्ली/जोधपुर/पाली। पाली सांसद और पूर्व केन्द्रीय राज्य पीपी चौधरी ने भोपालगढ़ विधानसभा क्षेत्र के गंभीर कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की सुलभता के लिए बावड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में आक्सीजन जनरेटर प्लांट लगाने के लिए सांसद निधि कोष से 30 लाख रूपए स्वीकृत किए। सांसद चौधरी ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के विकट दौर में ऑक्सीजन की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है। ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी भी मरीज को परेशानी नहीं हो, किसी को अपनी जान ना गंवाने पड़े इसके लिए सीएचसी बावड़ी परिसर में हवा से ऑक्सीजन बनाने वाले जेनरेशन प्लांट के लिए 30 लाख रूपये की अनुषंसा की हैं।

ज्ञात रहे कि सांसद चौधरी द्वारा 10 मई को भोपालगढ़ तथा औसियां विधानसभाओं के सघन दौरे के दौरान बावड़ी राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बावड़ी का भी दौरा किया था, इस दौरान बावड़ी तथा धन्नारी के भाजपा मण्डल अध्यक्षों, मण्डल पदाधिकारियों, भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ ही आमजन एवं अस्पताल प्रषासन ने यहां पर ऑक्सीजन जनरेषन प्लांट लगाने की पूरजोर मांग करते हुए बताया कि इस में अस्पताल भोपालगढ़ तथा औसियां दोनों ही विधानसभाओं के सैकड़ों गांवों के मरीज यहां पर पहुंचते है, राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित होने के कारण यहां मरीज आसानी से पहुंच सकता है, अतः इस अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेषन प्लांट स्थापित किया जाता है, तो आस-पास के सैंकड़ों गांवों के मरीजों को इसका फायदा मिलेगा, जिस पर सांसद ने संज्ञान लेते हुए उसी समय कहा था कि यदि राजस्थान सरकार यहां पर उक्त प्लांट नहीं लगाती है तो मैं इस बावड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में ऑक्सीजन जनरेषन प्लांट की मांग को पूरा करूंगा,

जिस पर स्थानीय कार्यकर्ताओं तथा आमजन ने सांसद का आभार जताया। सांसद ने बताया कि राजस्थान सरकार तथा स्थानीय प्रषासन से पूरे मामले की पड़ताल करने के बाद मालूम चला कि बावड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के लिए राजस्थान सरकार द्वारा ऑक्सीजन जनरेषन प्लांट स्थापित करने का कोई प्रस्ताव तैयार नहीं किया गया है। अतः सांसद चौधरी ने आज 30 लाख रूपयों की लागत वाले उच्च गुणवता युक्त 24 घंटे में 35 बैड की आपूर्ति/70 सिलेण्डर भरने की क्षमता वाले ऑक्सीजन जनरेषन प्लांट की बावड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्थापना की अनुषंषा की।
विदित है कि सांसद चौधरी ने हाल ही में पाली संसदीय क्षेत्र के समस्त पीएचसी और सीएचसी केन्द्रों पर कोरोना मरीजों के लिए 100 डबल माउथ ऑक्सीजन कॉन्स्ट्रेक्टर और 6 आईसीयू बेड के लिए 1 करोड़ 60 लाख और एमजीएम अस्पताल जोधपुर में आवष्यक चिकित्सकीय उपकरणों के लिए 11 लाख रूपए स्वीकृत किए गए।

सांसद ने चौधरी ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर अधिक घातक है। वर्तमान में संक्रमण अधिक तेज गति से फैल रहा है। इसके मद्देनजर कोई भी व्यक्ति बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलें। जरूरी होने पर बाहर निकलने से पहले मास्क जरूर लगाएं और कोविड प्रोटोकॉल की पालना करें। सतर्कता रखते हुए सामूहिक प्रयासों से कोरोना संक्रमण प्राप्त की जा सकेगी।

प्रधानमंत्री मोदी एवं केन्द्रीय कृषि मंत्री का जताया आभार: मोदी सरकार द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि के तहत् केन्द्र सरकार द्वारा किसानों के खाते में 8वीं किस्त के रूप में 2,000 रु. राशि प्रति किसान स्थानान्तरित करने पर पाली सांसद पी.पी. चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का संसदीय क्षेत्र के किसानों की ओर से आभार व्यक्त किया।


सांसद चौधरी ने आज किसानों और किसान संगठनों से वर्चुअल संवाद स्थापित किया जिसमें उन्होंने कहा कि देष के किसानों को मजबूत करने की दिषा में मोदी सरकार अनेक किसान हितकारी योजनाएं चला रही है। पीएम किसान निधि भी एक अत्यंत महत्वपूर्ण योजना है जिसके माध्यम से मोदी सरकार किसानों को स्वावलंम्बी बनाने में पूर्ण रूप से जुटी हुई है। इस योजना से किसान भाई लगातार रूप से लाभान्वित हो रहे हैं। इस संवाद में एक किसान रामजीवन चौधरी ने पहले और अब कितना फर्क बताते हुए कहा कि गांव के बुर्जगों से सुनने मिलता है कि पहले खेती करना कितना मुश्किल होता था। कर्ज लेकर खेती करते थे। लेकिन ना तो पुराना कर्ज उतर पाता बल्कि खेती करने के लिए हमेशा नया कर्ज लेना पड़ता है। खेती-खलिहान इस कर्ज की भेंट चढ़ जाते थे।

परिवार का पालन-पोषण करना तो दूर की बात थी। लेकिन पिछले कुछ सालों से समय बदला है। मोदी जी ने प्रधानमंत्री बनते ही कई किसान हितकारी निर्णय लिए है। फसल के दोगुने दाम, किसान देश में अपनी फसल को कहीं भी बेच सकता है जैसे अच्छे निर्णयों से हम किसानों की जिंदगी बदलने लगी है। आजकल की युवा पीढ़ी खेती को अपना व्यवसाय चुन रही है तो इसके पीछे कुछ तो कारण होगा।
इसी तरह एक अन्य किसान मादाराम सीरवी ने बताया कि उसकी तरह कई किसान है जिनके लिए इस कोरोना महामारी में 2 हजार की किस्त मिलना एक बहुत बड़ी मदद है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभी गरीबों के लिए 2 महीने के मुफ्त अनाज देने की घोषणा भी की है। छोटी-छोटी मदद हम जैसे करोड़ों लोगों को बहुत मायने रखती है। सभी किसानों ने एक स्वर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया।