पाली जिला मजिस्ट्रेट ने कहा आमजन की जीवन रक्षा के लिए कोविड प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना कराना बहुत जरूरी

PALI SIROHI ONLINE

पाली, 03 मई। जिला मजिस्ट्रेट व कलक्टर अंश दीप ने कहा कि कोरोना महामारी के लगातार बढ़ रहे प्रभाव के बीच आमजन की जीवन रक्षा के लिए कोविड प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना कराना बहुत जरूरी है। उन्होंने निर्देश दिए कि महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाडे़ की गाइडलाइन की पूरी कड़ाई से पालना करवाएं, इसमें किसी तरह की ढ़िलाई नहीं हो।उन्होंने कहा कि बढ़ते संक्रमण के कारण ऑक्सीजन की खपत तेजी से बढ़ रही है। सरकार अपने तमाम प्रयासों से कोविड रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध करवाने के लिए जुटी है, लेकिन संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जनता की भागीदारी भी उतनी ही जरूरी है। अगर हम अपने व्यवहार को अनुशासित कर लेंगे और जन अनुशासन पखवाडे़ के प्रोटोकॉल की अक्षरशः पालना सुनिश्चित कर लेंगे तो इस चुनौती से लड़ने में काफी हद तक कामयाब हो सकेंगे।


उन्होंने निर्देश दिए कि महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़े में अनुमत गतिविधियों के अतिरिक्त कोई व्यक्ति बिना अतिआवश्यक काम के कफ्र्यू के दौरान बाहर नहीं निकले। अब किसी ने प्रोटोकॉल की पालना नहीं की तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोविड प्रबंधन के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के साथ पूरा प्रशासन दिन-रात जुटा हुआ है। हमारा पूरा प्रयास है कि जिलेवासियों की जीवन रक्षा के लिए उपलब्ध संसाधनों का समुचित उपयोग सुनिश्चित हो। चिकित्सा विभाग की टीम संकट की इस घड़ी में पूरी प्रतिबद्धता से अपने दायित्वों का निर्वहन कर रही है।


जिला कलक्टर ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारी तथा चिकित्सा विभाग के कार्मिक अपनी पूरी क्षमता के साथ कोविड के बढ़ते प्रभाव को थामने के लिए प्रयास कर रहे हैं, लेकिन इसमें सफलता तभी मिल सकती है जब आमजन भी अनुशासन में रहकर कोविड प्रोटोकाॅल का पूरी तरह पालन करें। बेवजह घरों से निकलने वाले लोगों को भी खुद की सेहत के साथ परिजनों की चिंता होगी, तभी संक्रमण की चैन को पूरी तरह तोड़ा जा सकेगा।उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में 10 प्रतिशत से अधिक संक्रमण दर अथवा 60 प्रतिशत से अधिक आॅक्सीजन व आईसीयू बैड उपयोग में आ रहे है उन क्षेत्रों में सरकार ने 14 दिनों का लाॅक डाउन लगाने की सलाह दी है। जिला प्रशासन ऐसे सख्त कदमों से बचना चाहता है इसलिए आमजन से अपील है कि वे रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े के सभी नियमों का पूरी तरह पालन करें। आमजन की और से सजगता व सतर्कता बरतने से ही महामारी के प्रसार की श्रृंखला को प्रभावी ढंग से तोडा जा सकेगा।