पाली जिला कलक्टर ने कहा कि घर घर औषधि योजना की सभी तैयारियां समय रहते पूरी की जाएं

PALI SIROHI ONLINE

पाली, 15 मई। जिला कलक्टर अंश दीप ने कहा है कि घर-घर औषधि योजना की सभी तैयारियां समय रहते पूरी की जाएं। इसके साथ ही आमजन को योजना के बारे में जागरूक करने के लिए समुचित प्रयास भी किए जाएं।
उन्होंने कहा कि घर-घर औषधि योजना राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना है। कोरोना संक्रमण के दौर में इस योजना का महत्व तो है ही, यह स्वास्थ्य के लिए सभी काल में उपयोगी भी है। इसलिए सभी अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ योजना को सफल बनाएं। उन्होंने घर-घर औषधि योजना के अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार पर बल देते हुए कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि आमजन को इस योजना के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिल सके ताकि वे औषधीय पौधों का उपयोग कर अपनी इम्यूनिटी को अधिक बेहतर कर सकें। इसलिए आमजन को इस योजना के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी देने के लिए प्रभावी प्रयास किए जाएं।


उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा घर-घर औषधि योजना के तहत 4 तरह की प्रजातियों तुलसी, अश्वगंधा, गिलोय और कालमेघ के औषधीय पौधे आमजन को वन विभाग की पौधशालाओं से वितरित किए जाएंगे। इसके लिए आवश्यक तैयारियां पूरी की जा रही हैं। जिले की नर्सरियों में पौधे तैयार करवाए जा रहे हैं। सभी प्रजातियों के पौधों की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में है। योजना के तहत घर-घर पौधों का वितरण कर समुचित तरीके से अभियान की सफलता सुनिश्चित की जाएगी।


उन्होंने बताया कि राजस्थान के गांवों में तुलसी, कालमेघ, अश्वगंधा और गुडूची के परम्परागत उपयोग की जानकारी भी पीढिय़ों से उपलब्ध है। स्वयं को स्वस्थ रखने में इस ज्ञान के उपयोग का भी बड़ा योगदान हो सकता है। घर-घर औषधि योजना केवल पौधे बांटने की योजना नहीं है बल्कि स्वास्थ्य और संरक्षण से जुड़े उन विचारों को बांटने की भी योजना है, जो औषधीय पौधों के योगदान को जन-मानस के माथे में बिठाते हैं।