बच्चे भी कोरोना की जंग में 76 हजार से अधिक मासूम हुए संक्रमित

PALI SIROHI ONLINE

महाराष्ट् में (ईएमएस)। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से प्रभावित महाराष्ट्र में मासूम बच्चे भी सुरक्षित नहीं है. निश्चित रूप से इस खबर से अभिभावकों की बेचैनी बढ़ जाएगी. दरअसल राज्य में बीते 43 दिनों में 10 साल से कम उम्र के 76,401 बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर है. बताया जा रहा है कि इस साल 1 जनवरी से 12 मई तक 10 साल की उम्र से नीचे 1 लाख 06 हजार 222 बच्चे कोरोना से संक्रमित हुए हैं. बच्चों पर महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए अस्पतालों में नवजात बच्चों के लिए आईसीयू बनाए जा रहे हैं. राज्य में बीते साल यानि 2020 में 67 हजार 110 बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए थे.

वहीं जानकारों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक साबित हो सकती है. बच्चों पर मंडराते खतरे का आंदेशा भांपते हुए महाराष्ट्र के अस्पताल पहले से सचेत हो गए हैं और अभी से तैयारी में जुट गए हैं. महाराष्ट्र में डॉक्टरों का कहना है कि करीब 70 प्रतिशत बच्चों की कोविड रिपोर्ट निगेटिव आई है, पर एंटीबॉडी पॉज़िटिव है. ऐसे बच्चे गंभीर अवस्था में अस्पताल पहुंच रहे हैं. बहरहाल बड़ों के मुक़ाबले बच्चों के अस्पताल और आईसीयू बेड बेहद कम हैं. ऐसे में बच्चों में बढ़ते मामले और तीसरी लहर की तैयारी के लिए बच्चों के आईसीयू बेड बढ़ाने शुरू हो गए हैं. जानकारों की हिदायत है, नन्हें बच्चे अपनी तकलीफ़ बयां नहीं कर सकते, इसलिए कोविड रिपोर्ट और जांच पर नहीं बल्कि बच्चों में दिख रहे हल्के लक्षण पर ही सावधान हों और फ़ौरन डॉक्टर से सम्पर्क करें।