मरने के बाद भी नहीं छोड़ा रुपयों के लालचियों ने, चेकबुक चुरा बैंक खाते से निकाले 15.90 लाख…

PALI SIROHI ONLINE

कोटा. महावीर नगर पुलिस ने चेक बुक चोरी कर मृतक के बैंक खाते से 15. 90 लाख रुपए निकालने के मामले के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।महावीर नगर निवासी आनंद सिंह 3 अगस्त 2021 थाने में रिपोर्ट दी थी। इसमें बताया कि उसका भाई पाटनपोल निवासी पवन जलदाय विभाग रामगंजमंडी में कनिष्ठ लिपिक के पद पर कार्यरत था। वह अविवाहिता था तथा 20-25 साल से शिवपुरा निवासी नरेंद्र गौतम के मकान में किराए से रहता था।

पवन का एरोड्राम स्थित एसबीआई बैंक में बचत खाता था। पवन की 12 नवंबर 2020 को मौत हो गई। मृत्यु के बाद उसका बैंक का रिकॉर्ड देखा था। जिसमें 13 नवंबर 2020 को 4 लाख, 20 नवंबर को 3 लाख व 8 दिसंबर को 3 लाख 50 हजार, 16 दिसंबर को 3 लाख 50 हजार, 21 दिसंबर को 1 लाख 90 हजार रुपए 5 चेकों के माध्यम से निकाले गए। इसकी रिपोर्ट पर महावीर नगर थाना पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया।

पुलिस टीम ने एरोड्राम सर्किल स्थित एसबीआई बैंक शाखा से पवन के खाते का रिकॉर्ड प्राप्त किया। रिकॉर्ड के आधार पर पवन की मृत्यु 12 नवंबर 2020 के बाद उसके खाते से 5 चेकों के माध्यम से कुल 15 लाख 90 हजार की राशि निकाली गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर अनुसंधान किया। पुलिस टीम ने एरोड्राम सर्किल स्थित एसबीआई बैंक शाखा से मृतक पवन सिंह के खाते का रिकॉर्ड प्राप्त किया। रिकॉर्ड के आधार पर पवन की मृत्यु 12 नवम्बर 2020 हो हुई।

इसके बाद उसके खाते से 5 चेकों के माध्यम से करीब 15 लाख 90 हजार रुपए की राशि आहरित होना पाया गया। एक चैक से एक लाख 90 हजार रुपए अमर गुप्ता के खाते में मृतक पवन सिंह के खाते से हस्तारण होना पाया गया। इस पर 12 जनवरी को विज्ञान नगर निवासी अमर गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने, बैंक का चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बजरंग नगर निवासी मनोज कुमार व दादाबाड़ी निवासी प्रशांत गौतम ने योजना बनाकर मृतक पवन सिंह के चेकों से उसके खाते से रकम आहरित की है। उक्त तीनों का अपराध में शामिल होने पर पुलिस ने अमर गुप्ता, प्रशांत गौतम एवं मनोज वाल्मिकी को 12 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने राशि बरामद करने के प्रयास किए जा रहे हैं। पुलिस ने बताया कि आरोपी अमर गुप्ता के खिलाफ पूर्व में 13 प्रकरण दर्ज हैं।