कोरोना से थम सी गई जिंदगी, सड़के वीरान,आमजन को रोजगार की चिंता

PALI SIROHI ONLINE

जालोर जिले के रानीवाड़ा में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तार अभी थमी नहीं है, मगर धीरे-धीरे जिंदगी की पटरी रुक सी गई है। राज्य सरकार ने इसकी सख्त पालना के लिए रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा लगा दिया है। सोमवार से प्रदेश भर में इसकी सख्ती से पालना के निर्देश जारी हुए थे एवं आगामी 24 मई तक इसकी सख्ती से पालना होगी। सोमवार को पहले ही दिन पुलिस पूरी तरह से सख्त नजर आई। रानीवाड़ा पुलिस ने शाम तक कस्बे में एक बस सहित पचास से ज्यादा वाहनों को चालान एवं सीज कर थाने में खड़ा करवाया। सोमवार से पूरे प्रदेशभर में सख्त लॉकडाउन लागू हो गया है।

सोमवार को सरकार द्वारा दी गई छूट के अलावा करीब-करीब सबकुछ बंद नजर आया। सरकार ने विकराल रूप से सिर उठा रहे कोरोना पर लगाने लगाने के लिए सख्त लॉकडाउन लगाया है जो 24 मई तक लागू रहेगा। सख्त लॉकडाउन का पहले ही दिन असर नजर आया, सड़कों पर वही लोग नजर आए, जिन्हें जरूरी काम था। रोडवेज की बसों के चक्के भी थम गए। इस लॉकडाउन में शादी हो सकती है लेकिन केवल 11 लोग ही मौजूद रह सकेंगे। निजी वाहनों की तरह बसों सहित पब्लिक ट्रांसपोर्ट के सभी साधनों पर रोक लगा दी गई है, जिलेभर में आपातकालीन हालात को छोड़ आवाजाही पर रोक रहेगी। वहीं मनरेगा के काम भी बंद कर दिए गए हैं।

जरूरी सामान की दुकानें खुली – आज सुबह पांच घंटे के लिए किराने की दुकानें खुली, जहां ग्राहकों की भीड़ नजर आई, कई जगह सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती भी दिखाई दी। फल व सब्जी वाले दिखाई दिए, जिन्हें लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है। दो दिन के बाद सोमवार को बैंकों में भी कामकाज शुरू हो गया। मेडिकल की दुकानें व अस्पताल खुले रहे। दूसरी ओर पुलिस भी आज पूरी तरह सख्ती के मूड में नजर आई, कई जगह बैरिकेड लगाकर रास्ते बंद कर दिए गए एवं आने जाने वालों से पूछताछ की। बेवजह निकलने वालों के चालान काटने के साथ ही क्वारेंटीन भी किया जा रहा है।

किराना की दुकान है विकेंड पर बंद……मण्डिया, फल, सब्जियां, फूल मालाओं की दुकान है, हर दिन सुबह 6 बजे से 11 बजे तक खुल सकेगी। फल सब्जी के ठेले, साइकिल, ऑटो रिक्शा और मोबाइल वैन को सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक अनुमति है। डेयरी और दूध की दुकानों को सुबह 6 बजे से 11 बजे एवं शाम 5 बजे से 7 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। सरकारी राशन की दुकानें बिना किसी अवकाश की खुली रहेगी। लॉकडाउन में पहले की तरह ही फल, सब्जी, दूध, किराना जैसे आम जरूरत की चीजें मिलती रहेगी, उनके खुलने और बंद होने का समय पहले वाला ही रहेगा।