पति-पत्नी और जवान बेटे की मौत, कोरोना के खौफ में ग्रामीण

PALI SIROHI ONLINE

श्रीगंगानगर जिले के के जैतसर गांव में कोरोना ने एक परिवार पर ऐसा कहर बरपाया कि पूरा गांव कांप उठा है। कोरोना के कारण इस परिवार के तीन सदस्यों की एक के बाद एक मौत हो गई। इनमें पति-पत्नी और उनका जवान बेटा शामिल है। जानकारी के अनुसार जैतसर के वार्ड 9 निवासी सेवानिवृत्त अध्यापक हरिनंद शर्मा (75) के परिवार में गत 29 अप्रेल को उनकी पत्नी कांता देवी (65) का स्वास्थ्य खराब होने पर उपचार के लिए सूरतगढ़ भर्ती करवाया गया। वहां स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने के कारण उन्हें जिला मुख्यालय पर भर्ती करवाया गया। उसके अगले ही दिन उनके जवान पुत्र भरतभूषण शर्मा (35) का भी स्वास्थ्य खराब हो गया। इस पर उसे भी श्रीगंगानगर जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती करवाया गया।

मां की मौत के एक दिन बाद बेटे ने दम तोड़ा
मां-बेटे दोनों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि होने पर उनका कोविड केयर वार्ड में उपचार शुरू हुआ। इसी दौरान 3 मई को कांतादेवी ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इसकी जानकारी मिलने पर अगले ही दिन 4 मई को उनके पुत्र भरतभूषण शर्मा ने भी दम तोड़ दिया। एक ही घर में एक के बाद एक लगातार हुई मां-बेटे की मौत से घर सूना हो गया। पत्नी और पुत्र की मौत के सदमे ने बुजुर्ग हरिनंद शर्मा को भी कमजोर कर दिया।

डगमगाते आत्मविश्वास के बीच हरिनंद शर्मा (75) भी कोरोना संक्रमित हो गए। उन्हें उपचार के लिए जयपुर ले जाया गया। वहां उपचार के दौरान वे अधरंग के शिकार हो गए। 18 मई को हरिनंद शर्मा की भी जयपुर में उपचार के दौरान मौत हो गई। एक ही परिवार के तीन सदस्यों की हुई मौत के बाद जिले के प्रशासनिक अधिकारी जैतसर पहुंचे और आवश्यक कार्रवाई तथा सर्वे करवाने के निर्देश दिए। एक ही परिवार में हुई तीन मौतों से ग्रामीण कोरोना को लेकर खौफजदा हैं।