डीजे बजाने का विवाद, युवक की मौत:पीड़ित पिता बोला- गला दबाकर जबरदस्ती जहर खिलाया, पुलिस बोली- घर जाकर जहर खाया

PALI SIROHI ONLINE

बांसवाड़ा। दानपुर थाना क्षेत्र की मकनपुरा ग्राम पंचायत में नोतरा कार्यक्रम में DJ पर पसंद का गाना बजाने को लेकर दो पक्षों में भिड़ंत हो गई। इसमें एक पक्ष के तीन लोगों ने दूसरे पक्ष के एक युवक के साथ मारपीट कर दी। लोगों ने दोनों पक्षों को लड़ने से रोका। घर पहुंचने के बाद युवक को उल्टियां होने लगीं। उसने परिवार को जहर पीने की बात कही।

परिवार उसे लेकर महात्मा गांधी जिला अस्पताल पहुंचा, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इधर, शनिवार को परिजनों की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम हुआ। पीड़ित परिवार मोर्चरी के बाहर आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर अड़ गया, लेकिन पुलिस ने मामले को जांच में रखने की बात कहते हुए गिरफ्तारी से मना किया।

दानपुर थानाधिकारी रमेशचंद्र मीणा ने बताया कि खोरापाड़ा निवासी अनिल पुत्र रमजू मईड़ा, उसका भाई विश्राम एवं पत्नी सहित परिवार के सदस्य गांव में किसी रिश्तेदार के यहां नोतरा कार्यक्रम में गए थे। यहां DJ बजाने को लेकर अनिल मईड़ा की दूसरे पक्ष के रामलाल पुत्र सोहनलाल, सुनील पुत्र सोहनलाल एवं अनिल पुत्र केसिया के साथ थोड़ी बहस हो गई।

मामला शांत भी हो गया। इसके बाद अनिल मईड़ा उसके परिवार के साथ घर लौट गया। पुलिस ने बताया कि अनिल ने घर पर जाकर जहर पी लिया। इसके बाद परिवार उसे लेकर हॉस्पिटल आया, जहां पहुंचने से पहले उसकी मौत हो गई।
पीड़ित पिता ने लगाए आरोप
इधर, मृतक अनिल के पिता रमजू मईड़ा ने पुलिस को बताया कि DJ को लेकर हुए विवाद के कुछ देर पर आरोपियों ने अनिल को पकड़ लिया। उसने देखा कि एक युवक ने अनिल के पैर पकड़े और दूसरे ने सीना दबा रखा था, जबकि तीसरे युवक ने उसके मुंह में जबरदस्ती जहर खिलाया। इसके बाद तबीयत बिगड़ने पर वह अनिल को लेकर अस्पताल पहुंचे।
एक साल पहले हुई थी शादी
खोरापाड़ा निवासी अनिल बांसवाड़ा कॉलेज से BA कर रहा था। उसकी एक साल पहले शादी हुई थी।

अनिल के पिता रमजू ने दो शादियां कर रखी हैं। दो पत्नियों से तीन लड़के और तीन लड़कियां हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार अनिल बीते दिनों गांव की एक लड़की लेकर भागा था जो आरोपियों की रिश्तेदारी में थी। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच भांजगड़ा (विवाद का निपटारा) हुआ था। इसमें लड़की पक्ष वालों की ओर से हर्जाने के तौर पर कुछ राशि भी ली गई थी। हालांकि, पुलिस मामले की पुष्टि नहीं कर रही है।

​​​​​​​मृतक के परिजनों ने थानाधिकारी के समक्ष आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। परिवार ने दबाव बनाया कि अगर, पुलिस गिरफ्तारी नहीं करेगी तो वह शव नहीं उठाएंगे। थानाधिकारी मीणा को बोलना पड़ा कि वह दबाव में काम नहीं करेंगे। मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम होगा। अभी मामला जांच में हैं और जांच पूरी होने के बाद ही गिरफ्तारी होगी।