जहरीली झाड़ी खाने से 45 बकरियों की मौत,मुआवजे की आस

PALI SIROHI ONLINE

देसूरी (जगदिश सिंह गहलोत) निकटवर्ती कोट सोलांकियान के गुडा किटियाँन में सोमवार को विषाक्त झाड़ी खाने से 45 बकरियो की मौत हो गई। जबकि 8 बकरियों को ग्रामीणों ने देशी इलाज देकर बचाया। ग्रामीणों ने प्रशासन से नियमानुसार मुआवजे की मांग उठाई है।पहलादसिंह कोट ने बताया कि गुडा किटियाँन निवासी राम सिंह की पालतू बकरियां सोमवार को एक बेरे पर खेत में चर रही थी। इस दौरान 45 बकरियों ने अरुजिया नामक विषाक्त पेड़ की फलियों का सेवन कर लिया। फलियों के जहर के प्रभाव सभी बकरियो की मौत हाे गई।

कोट सोलांकियान में पशु अस्पताल तो हैं लेकिन डॉक्टरों के पद रिक्त होने के कारण बकरियों काे उपचार नहीं मिल पाया और 45 बकरियों की मौत हो गई। सूचना पर पास ही पनोता ग्राम पंचायत के पशु चिकित्सालय से कम्पाउंडर मदन लाल पहुंच कर शेष बकरियों का इलाज किया व ग्रामीणों ने अपने स्तर पर देशी उपचार कर 8 बकरियों की जान तो बचा ली लेकिन अब बात है पशुपालक को मुआवजा मिलेगा या नही इसको लेकर पशुपालक चिंतित नजर आ रहा है सूचना मिलने पर पंचायत प्रशासन एवं पुलिस चौकी कोट प्रभारी वरद सिंह चौहान मौके पर पहुंचे एवं मौका स्थिति का निरीक्षण किया जहां पशुपालक राम सिंह एवं अन्य ग्रामीणों ने नियमानुसार मुआवजे दिलवाने की मांग की। इस अवसर पर गांव के जनप्रतिनिधि ग्रामीण मौजूद रहे