अलवर गैंगरेप: सुरक्षा की मांग करने पहुंची बच्चियों पर भडक़े अलवर कलक्टर, बोले- राजनीति मत करो

PALI SIROHI ONLINE

अलवर. मूक-बधिक बच्ची से गैंगरेप के बाद तिजारा ओवरब्रिज पर फेंके जाने की घटना के विरोध में देशभर में आवाज उठ रही है। जिले में बढ़ते महिला अपराध और अपनी सुरक्षा की मांग करने पहुंची छात्राओं पर अलवर जिला कलक्टर नन्नूमल पहाडिय़ा गुस्सा हो गए। उन्होंने बालिकाओं से कहा कि राजनीति नहीं पढ़ाई करो। छात्राओं से उनका व पिता का नाम व नम्बर लिया।जिला कलक्टर ने एडीएम सिटी सुनीता पंकज से कहा कि इनके नम्बर नोट करो और इनके पिताजी से बात करो कि आपकी बच्ची पढऩे आई है या राजनीति करने आई है।

इतने में भाजपा की महिला कार्यकर्ता ने कहा कि अपने हक की आवाज उठाना राजनीति है क्या? इसपर कलक्टर ने कहा कि इन बच्चों को कान में मत लिजिए। कलक्टर ने कहा कि और कौनसी बच्ची आई है यहां, उनके पापाजी से बात करो। जिला कलक्टर शिकायत लेकर पहुंची बालिकाओं के नम्बर ले रहे थे। इस दौरान अन्य महिला कार्यकर्ताओं ने कहा कि हमारे भी नंबर लिखो।बालिकाओं ने कहा-शहर में छेड़छाड़ होती हैबालिकाओं ने कहा कि हम सडक़ पर निकलते हैं तो उनपर टिप्पणियां की जाती है। हमीरपुर की छात्रा पूजा झिरवाल ने कलक्टर से कहा कि हसन खां मेवाती नगर, बुद्ध विहार आदि क्षेत्रों में छेड़छाड़ की घटनाएं ज्यादा होती है। कोचिंग सेंटरों के आसपास भी छेड़छाड़ की शिकायतें मिलती है। बालिकाओं ने पुलिस गश्त पर भी सवाल उठाए। जिला कलक्टर ने बालिकाओं को पुलिस कंट्रोल रूम के नम्बर नोट कराए। इस दौरान भाजपा महिला कार्यकर्ताओं की जिला प्रशासन से बहस भी हुई।