VIDEO मदन राठौड़ पार्टी ने पार्टी का सच्चा सिपाही बनकर कार्य किया, तो पार्टी ने राज्यसभा प्रत्यासी बनाकर पुरुषकर्त किया- नामा

PALI SIROHI ONLINE

खीमाराम मेवाडा तखतगढ़

सुमेरपुर। तखतगढ़ मदन राठौड ने एक सच्चे सिपाही बन पार्टी मे अपने जीवन का योगदान दिया उनके जीवन के संघर्ष का फल पार्टी ने दिया है, नामा,

राज्यसभा प्रत्याशी की घोषणा के बाद कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी के साथ बाटी मिठाइयां भेजा बधाई संदेश

तखतगढ 13 फरवरी:(खीमाराम मेवाड़ा) भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा आगामी होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर सोमवार रात राजस्थान से दो उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। जिसमें मदन राठौड़ और चुन्नीलाल गरासिया को उम्मीदवार बनाया है। राठौड के राज्यसभा प्रत्याशी की घोषणा की सूचना मिलते ही पाली लोकसभा क्षेत्र सुमेरपुर तखतगढ़ सांडेराव सहित ग्रामीण क्षेत्रों में राठौड के समर्थक भाजपा कार्यकर्ता ने खुशियां जाहिर करते हुए आतिशबाजी के साथ पटाखे फोड़ मिठाइयां बाट एक दूसरे को मुह मीठा कर राठौड को बजाई का संदेश दिया है।

दरअसल मदन राठौड़ पाली लोकसभा की सुमेरपुर विधानसभा सीट से दो बार विधायक रहे हैं। 2003 में पहली बार विधायक बने थे। वहीं 2013 में दूसरी बार विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे थे। 2013 से 2018 में सरकारी उप मुख्य सचेतक रहे थे। लेकिन राठौड ने इस बार भी विधानसभा चुनाव-2023 में भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने टिकट नहीं दिया तो अपने समर्थकों के साथ सुमेरपुर विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में ताल ठोक दी थी।

हालांकि बाद में केंद्रीय नेतृत्व पार्टी की मान-मनुहार के बाद वे मान गए थे। और नाम वापसी कर ली थी। बताया जा रहा है। कि इसी का परिणाम रहा कि उन्हें राज्यसभा में भेजा जा रहा है। राठोड को बीजेपी में संगठन के तौर पर लंबे समय से कर रहे संघर्ष का फल मिला हैं। राठौर के राज्यसभा प्रत्याशी बनाए जाने के बाद सोमवार देर शाम को तखतगढ़ कस्बे के महाराणा प्रताप चौक पर पालिका उपाध्यक्ष मनोज नामा के नेतृत्व में जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं ने जमकर नारे लगाते हुए आतिशबाजी के साथ मिठाई बताकर एक दूसरे को में मुंह मीठा करवा कर राज्यसभा प्रत्याशी राठौर को बधाई का संदेश भेजा है।

पालिका उपाध्यक्ष मनोज नामा ने कहां की केंद्र नेतृत्व के इस निर्णय से हमारे पूर्व विधायक को राजस्थान राज्यसभा प्रत्याशी बनाए जाने पर कार्यकर्ताओं में खुशी है। उन्होंने कहा कि राठौर ने विधानसभा चुनाव में निर्दलीय पत्र दाखिल किया था लेकिन केंद्रीय नेतृत्व की समझाइए इस पर पर्चा वापस लेकर भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में एक सच्चे सिपाही की तरह उन्होंने अपने जीवन में योगदान दिया। आज भारतीय जनता पार्टी ने उनको राज्यसभा में भेजने का निर्णय लिया। उनके जीवन के संघर्ष का फल है।

यह भी पढे

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA