रायपुर-100 फीट लंबी सुरंग बनाकर क्रूड ऑयल चोरी

PALI SIROHI ONLINE

रायपुर-पाली-जयपुर हाईवे पर बर के पास इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसीएल) को पाइप से पास के पेट्रोल पंप तक सुरंग मिली है। 10 फीट गहरी, 100 फीट लंबी और 4 फीट चौड़ी सुरंग में आधा इंच की पाइप लाइन मिली है, जो मुख्य लाइन में वाल्व लगाकर पेट्रोल पंप तक जोड़ रखी थी। सोमवार को आईओसी व पुलिस को टीमों ने खुदाई की तो सुरंग देखकर दंग रह गई। क्रूड ऑयल की चोरी कब से कितनी हो चुकी है इस बारे में अभी खुलासा नहीं हुआ है। क्रूड ऑयल की लाइन गुजरात के मुद्रा से हरियाणा के पानीपत तक बिछी हुई है।

कार्रवाई के दौरान पंप मालिक राजेंद्र जैन मौके पर नहीं मिला, लेकिन पंप के मैनेजर प्रदीप माली निवासी सिरोही को पुलिस ने हिरासत में लिया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक एनापीसीएल कंपनी ने पेट्रोल पंप राजेंद्र जैन को आवंटित किया था, जिसने आकाश जैन व सोहनलाल बिश्नोई को लीज पर यह पंप दिया था। अब पुलिस पंप मालिक के साथ वर्किंग पार्टनर आकाश व सोहन विश्नोई की तलाश कर रही है। आईओसी की ओर से बर पुलिस थाने में रिपोर्ट कराई गई है। जिसकी जांच पुलिस एसओजी करेगी। पुलिस ने तेल चोरी के मामले की जानकारी जयपुर एसओजी को दे दी है।

आज आएगी SOG की टीम

आईओसी के अधिकारियों ने बताया कि रविवार को लाइन का सर्वे किया गया। जिसमें लाइन में फॉल्ट होने की जानकारी मिली तो अधिकारियों को सूचना देकर फॉल्ट वाली जगह पर गड्डा खोदकर देखा तो वॉल्व व सुंरग होने की जानकारी मिली। रात होने से कार्य को रोकना पड़ा। मंगलवार को वापस गड्डा खोदने की प्रक्रिया शुरू होगी। वहीं आज एसओजी आएगी।

पेट्रोल पंप के सीसीटीवी बंद मिले, आशंका- टैंकरों में भेज रहे थे क्रूड

ऑयल सोमवार को तेल चोरी की सूचना पर जैतारण सीओ सीमा चोपड़ा, सेंदडा थाना प्रभारी बुधाराम चौधरी तथा बर थाना पुलिस के जवानों ने घटनास्थल का दौरा किया। आईओसी के अफसरों की टीम भी मौके पर पहुंची। पंप पर महज दो सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे, लेकिन वे भी चंद थे और उनका विजन भी सिर्फ पंप तक ही था। ऐसे में माना जा रहा है कि पाइप लाइन से तेल चोरी कर आरोपी टैंकरों में भर कर सप्लाई करते थे।

जमीन से 10 फीट नीचे 100 फीट सुरंग बना दी सर्वे के दौरान मिली जानकारी के बाद गड्डा खोदकर देखा तो जमीन से करीब 10 फीट नीचे 100 फीट लंबी सुरंग देखी तो अधिकारी भी ढंग रह गए। सुरंग में नीचे लोहे की एक ट्रॉली भी लगाई, जिससे मिट्टी या उसमें बैठकर आना जाना कर सके। सुरंग में मिट्टी नहीं धंसे इसके लिए जगह जगह पर लोहे की एंगल भी लगाई गई।

बंद पड़े पंप को तीन माह पहले किराए पर लिया था एचपीसीएल का पेट्रोल पंप काफी साल से बंद पड़ा था। करीब तीन माह पहले ही कंपनी ने राजेंद्र जैन को आवंटित किया, जिसने आकाश जैन व सोहनलाल विश्नोई को किराए पर यह पंप दिया था। पुलिस को पता चला है कि पंप के पास से ही आईओसी की पाइप लाइन निकल रही थी। इससे क्रूड ऑयल चोरी कर बेचने के लिए ही पंप को आरोपियों ने फिर से शुरू किया था।

संचालक ने अन्य दो लोगों को आगे से आगे दे दिया लीज पर प्राप्त जानकारी अनुसार बर कस्बे के ब्यावर रोड़ स्थित पुलिस थाने से 100 मीटर पहले ही एचपी कंपनी का पंप स्थित है। जिसे कंपनी ने बाड़मेर निवासी जितेन्द्र जैन को लीज पर दिया था। मगर कुछ समय से जितेन्द्र ने भी पाली निवासी अशोक जैन व एक को आगे लीज पर दे दिया। मामले में आईओसी कंपनी के अधिकारियों की ओर से बर पुलिस थाने में लिखित रिपोर्ट दी गई।

किसी को शक नहीं हो इसलिए लगवा रहे ब्लॉक सुरंग के कार्य के दौरान अंदर से निकलने वाली मिट्टी को बाहर निकालने के दौरान किसी को शक नहीं हो जिसके लिए पंप संचालक की ओर से पंप परिसर में सीसी ब्लॉक का कार्य करवाया जा रहा है। ताकि सुरंग की मिट्टी ब्लॉक के नीचे बिछाने में काम आ सके और किसी को शक भी नहीं हो। कार्य के दौरान बताया जा रहा है कि यहां काम करने वाले मजदूरों को भी इसकी भनक नहीं लगी।

यह भी पढे

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA