बाली-गुड़ा कल्याणसिंह में शिकार की घटना के बाद लेपर्ड के रेस्क्यू के लिए लगाया पिंजरा

PALI SIROHI ONLINE

बाली-कुम्भलगढ़ वन्यजीव अभयारण्य इको सेंसेटिव जोन सरहद स्थित ग्राम गुड़ा कल्याणसिंह में लेपर्ड व शावकों द्वारा हमला करने की घटना बाद त्वरित हरकत में आए अभ्यारण्य वनकार्मिकों ने लेपर्ड आवाजाही रास्ते में 4 ट्रैप कैमरा व सुरक्षित रेस्क्यू दृष्टि से पिंजरा लगा दिया है। खेत आसपास रायड़ा, अरंडी व गेहूं की फसल खड़ी है, जिसमें सहज नजर नहीं आता है। घटना के दूसरे दिन रविवार शाम तक आवाजाही नहीं हुई। वनकार्मिक लगातार गश्त कर रेकी कर ट्रैप कैमरा आवाजाही वाले रास्ते पर तीसरी नजर बनाए हुए है।

कुम्भलगढ़ अभयारण्य रेंज सादडी क्षेत्रीय वन अधिकारी किशनसिंह राणावत ने बताया कि लाटाड़ा ग्राम पंचायत के राजस्व ग्राम गुड़ा कल्याणसिंह में मुकेश पुत्र दोलाजी चौधरी के खेत पर गेहूं फसल में सिंचाई कर रहे पीपला निवासी अर्जुन गरासिया पर हमला कर उसे चोटिल कर दिया था। अर्जुन गरासिया ने सूझबूझ से काम लेकर लकड़ी से डराते हुए उसे भगा दिया। 3 जनवरी रात को ग्राम एक बाड़े में गाय बछड़े व श्वान पर हमला कर मार कर बछड़े को ले गया। साथ ही ओरण में एक गौवंश को मार दिया। इन घटनाओं बाद ग्रामीणों में खौफ पसर गया।

लाटाड़ा वनचोकी प्रभारी वनपाल कौशलसिंह संजय व अमरसिंह ने लेपर्ड हमले की घटनाओं में मौका मुआयना कर हताहत किसान को राहत मुहैया कराने की कार्यवाही की। मृत गाय बछड़ा के पोस्टमॉर्टम करवाकर दफनाए गए।

वनपाल कौशलसिंह ने बताया कि शनिवार को युवक अर्जुन गरासिया पर हमले की घटना बाद खेत पास आवाजाही के चारों दिशाओं में ट्रैप कैमरा लगाए एव खुले स्थान पर लेपर्ड के सुरक्षित रेस्क्यू को लेकर पिंजरा भी लगाया है।

वनकार्मिक कौशलसिंह, संजय व अमरसिंह उस पर निगाह बनाए रेकी कर रहे है। घटना बाद रविवार शाम तक लेपर्ड की वापस मूवमेंट नहीं हुई है। देर रात वापस आवाजाही हो सकती है, ग्रामीण भी सहयोग कर रहे है।

यह भी पढे

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA