8 महीना से चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय से एन.एच. 325 क्षतिग्रस्त हालात में, राहगीर परेशान

PALI SIROHI ONLINE

खीमाराम मेवाड़ा तखतगढ़

8 महीना से चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय से एन.एच. 325 क्षतिग्रस्त हालात में, राहगीर परेशान

— आए दिन सड़क दुर्घटना मे हो रही बेकसूर लोगों की मौत, जिम्मेदार मौ कब खुलेगी कुंभकरणी नींद

तखतगढ 11 फरवरी:(खीमाराम मेवाड़ा) 8 महीना पूर्व क्षेत्र में 1 महीने में दो बार बिपरजॉय चकवात के कारण बने बाढ के हालात के बाद तखतगढ़ नगर पालिका क्षेत्र से गुजर रहे राष्ट्रीय राजमार्ग एन.एच. 325 पर बलाना से आहोर तक जगह-जगह पर पटरियों,साईन बोर्ड, रेलिंग, पुलियाए पूरी तरह क्षतिग्रस्त हालात बनने के बाद भी आज दिन तक जिम्मेदार सार्वजनिक निर्माण विभाग या फिर नेशनल हाईवे निर्माण कंपनी किसी प्रकार का कोई ध्यान नहीं दे रहा। जिससे मामला अभी भी जस का तस पड़ा हुआ है। और हाईवे नेशनल अथॉरिटी की लापरवाही के कारण आए दिन रात्रि के समय में हो रही सड़क दुर्घटना में बेकसूर लोगों की मौत होती जा रही है। आखिर जिम्मेदार अधिकारियों की कुंभकर्णी नींद कब खुलेगी। हाल ही में चार दिन पूर्व 7 फरवरी की रात्रि को फालना रोड स्थित डोला वीर मामाजी मंदिर के नजदीक बलाना निवासी बाइक सवार की सड़क दुर्घटना में मौके परी मौत हो गई। आखिर इन मौतो का जिम्मेदार कौन जब-जब सड़क मरम्मत की बात को लेकर विभागीय अधिकारियों से बात करने पर कोई कहता है। नेशनल हाईवे को एस्टीमेट भेजा है। और कोई कहता है। ठेकेदार करेगा की बातों में उलझा कर किनारा करने में ही लगे हुए हैं। जब की आगामी 3 महीना के भीतर फिर मानसून सक्रिय होने की भी संभावना बन सकती है। ऐसे में अब नेशनल हाईवे की टूटी-फूटी सड़कों को लेकर क्षेत्र वासीयो में भारी आक्रोश व्याप्त होता नजर आने लग गया है।

ये भी पढे

— यह है मामला, समय को भरोसो कोनी कद पलटी मार जाए की कहावत अब तखतगढ़ नगर में चरितार्थ होती नजर आई है की तखतगढ़ नगर पालिका क्षेत्र से गुजराते सांडेराव से पचपदरा नेशनल हाईवे 325 के निर्माण के दौरान जिला प्रशासन एवं हाईवे निर्माण कंपनी के तकनीकी अधिकारियों ने तखतगढ़ निवासीयो एवं सैकड़ों किसानों की एक भी नहीं सुनी और आज उन्हीं की लापरवाही से 18 जून 2023 चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय की तबाही एवं 10 जुलाई 2023 को दूसरी बार मानसून की मूसलाधार बरसात के कारण 22 दिनों में दो बार तखतगढ़ बाढ़ की चपेट में आकर डूब चुका था। ऐसा नजारा 70 साल में पहली बार तखतगढ में देखने को मिला उसी कारण। छोटे बड़े मध्यम व्यापारी से लेकर किसानों तक करोड़ों के नुकसान में डुबो दिए। और कईयों के आशियाने उजड़ गए जो खुले आसमान के नीचे जीवन गुजारने को मजबूर है। साथ ही दो बार बाढ़ की स्थिति बनने से एलएच 325 के बलाना से आहोर तक जगह-जगह पर पटरियों,साईन बोर्ड, रेलिंग, पुलियाए पूरी तरह क्षतिग्रस्त हालात बनने के बाद भी आज दिन तक जिम्मेदार सार्वजनिक निर्माण विभाग या फिर नेशनल हाईवे अथॉरिटी अपनी आंखें मूंद कर कुंभकर्णी नींद में सोया हुआ है। जिसका खामियाजा बेकसूर जनता को भुगतना भारी पड़ रहा है। क्या यही नेशनल हाईवे अथॉरिटी की जिम्मेदारी है।
— इनका कहना है, 8 महीना पूर्व चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय की वजह से जगह जगह टूटी सड़क की किनारो एवं पटरीयो की मरम्मत को लेकर एसडीएम ने मौके पर पहुंच संबंधित विभाग्य अधिकारियों को बुलाकर त्वरित मरम्मत करवाने के निर्देश दिए थे। लेकिन उसके बाद भी अब तक मामला जस का तस पड़ा हुआ है। तो हो रही दुर्घटनाओं के जिम्मेदार हाईवे नेशनल अथॉरिटी ही रहेगी।
— जितेंद्र चांदोरा एवं विनोद सोलंकी, अध्यक्ष व्यापार संघ एवं व्यापार एन्ड उद्योग मंडल तखतगढ़ पाली

— क्या कहते हैं जिम्मेदार, चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय की वजह से जगह जगह टूटी सड़क की किनारो एवं पटरीयो की मरम्मत को लेकर हमने तो एस्टीमेट बनाकर एन.एच कंपनी को भेज रखा है। एस्टीमेट स्वीकृत होते ही जल्द मरम्मत कार्य करवाए जाएंगे।
— श्याम तापड़िया, सेफ्टी इंचार्ज- एन.एच 325 सांडेराव से आहौर

— क्या कहते हैं विभागीय अधिकारी, चक्रवर्ती तूफान बिपरजॉय की वजह से जगह जगह टूटी सड़क की किनारो एवं पटरीयो को लेकर 2 दिन पूर्व में मौके पर आया था और ठेकेदार कार्य कर रहा है। लेकिन एस्टीमेट निकला या नहीं निकला उसको लेकर ठेकेदार का काम है ठेकेदार करेगा। का ही जवाब मिल रहा है।
— नेमीचंद शर्मा, प्रोजेक्ट डायरेक्टर- एन.एच 325

फोटो 1-2 दोनों फोटो बिपरजॉय वजह से 8 महीना से नेशनल हाईवे 325 सड़क किनारो पर बड़े-बड़े गढ़ों में तब्दील का नजारा

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA