सायला-भाण्डवपुर महातीर्थ में तत्वत्रयी प्रतिष्ठोत्सव के निमित चतुर्विध संघ के साथ राजदरबार मेरु महोत्सव मनाया

PALI SIROHI ONLINE

सौधर्म इन्द्र के साथ मेरुपर्वत पर 64 इन्द्रों द्वारा किया अभिषेक

  • भाण्डवपुर महातीर्थ में तत्वत्रयी प्रतिष्ठोत्सव के निमित चतुर्विध संघ के साथ राजदरबार में मेरु महोत्सव मनाया
    सायला।अतिप्राचीन भाण्डवपुर महातीर्थ में तत्त्वत्रयी प्रतिष्ठोत्सव में पुण्य सम्राट जयन्तसेन सूरीश्वर के पट्टधरद्वय गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर महाराज एवं भाण्डवपुर तीर्थाेद्धारक आचार्य जयरत्न सूरीश्वर महाराज, विमलगच्छाधिपति आचार्य प्रद्युम्नविमल सूरीश्वर महाराज, आचार्य नरेन्द्र सूरीश्वर महाराज आदि विशाल श्रमण श्रमणिवृन्द की शुभ निश्रा में श्री महावीर जैन श्वेताम्बर पेढ़ी (ट्रस्ट), श्री वर्धमान-राजेन्द्र जैन भाग्योदय ट्रस्ट (संघ), श्री तत्त्वत्रयी प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के द्वारा विविध धार्मिक अनुष्ठान्न एवं सांस्कृतिक आयोजन हो रहे है।
    मीडिया प्रभारी कुलदीप प्रियदर्शी ने बताया कि प्रतिष्ठोत्सव के सातवें दिन रविवार को गुरू भगवन्तों की निश्रा में क्षत्रियकुण्ड नगरी में मेरु महोत्सव के अन्तर्गत सौधर्म इन्द्र आदि 64 इन्द्रों द्वारा चतुर्विध संघ के साथ शोभायात्रा में नृत्य करते हुए मेरु पर्वत पर जाकर भावपूर्वक मनाया गया। 64 इन्द्र बनने का लाभ लाभार्थियों ने उल्लास के साथ लिया। प्रतिष्ठोत्सव के निमित्त प्रतिदिन नयनाभिराम रंगोली, चित्र प्रदर्शनियां, गुफा में श्री महावीरस्वामी एवं श्री राजेन्द्रसूरी की चित्र प्रदर्शनी जगच्चन्द्र विजय महाराज के निर्देशन में बनाई गई। जिसकी प्रशंसा अवलोकन करने वाले सभी श्रद्धालुजन कर रहे हैं। वही तीर्थ परिसर में प्रतिष्ठा निमित्त मेरु महोत्सव का रंगारंग कार्यक्रम इन्द्र-इन्द्राणी द्वारा 250 अभिषेकों के साथ तीर्थ परिसर में बनाए गए मेरु पर्वत पर किया गया।

हरिणगमैषी इन्द्र, अच्युतपति इन्द्र, ईशान इन्द्र एवं कुबेर देव बनने का लाभ विभिन्न लाभार्थी परिवारों द्वारा लिया गया। दोपहर में प्रभु के अठारह अभिषेक संगीत की स्वरलहरियों के साथ लाभार्थी परिवार किया गया। आयोजन में प्रभावना, परमात्मा एवं गुरु प्रतिमाओं की नयनाभिराम अंगरचना एवं प्रभु भक्ति व रोशनी आदि विभिन्न कार्यक्रम हुए। सायं कुमारपाल महाराजा की आरती का आयोजन हुआ। आरती के पश्चात अन्तर्राष्ट्रीय कलाकार दिलीप बाफना ने भक्ति रस बरसाते हुए सभी गुरुभक्तों को आनन्दित कर दिया। राज परिवार में बने कलाकारों को सजाने-संवारने का कार्य सुनिता गोधा-नीमच ने किया।

मुमुक्षुओं का हुआ तीर्थ परिसर में पदार्पण

मुमुक्षु भव्याकुमारी अदाणी, निमाबेन देसाई, रविनाकुमारी सोलंकी तीनों मुमुक्षुओं का भाण्डवपुर महातीर्थ में रविवार प्रातः बैण्ड-बाजों के साथ पदार्पण हुआ। तीनों मुमुक्षु आगामी 16 फरवरी को गुरुभगवन्तों के वरद्हस्तों से महातीर्थ में भागवती प्रव्रज्या अंगीकार करेंगी।

आज के आयोजन
महोत्सव आठवें दिन सोमवार को तीर्थ परिसर में प्रतिष्ठा निमित्त भगवान का नामकरण, पाठशालागमन कार्यक्रम राजदरबार में सजीव मंचन होगा। दोपहर में श्री जिनेन्द्र पंचकल्याणक पूजा संगीत की मधुर स्वरलहरियों के साथ लाभार्थी परिवार द्वारा पढ़ाई जायेगी। प्रातः की नवकारसी, दोपहर की नवकारसी एवं सायं की नवकारसी लाभार्थी परिवार की ओर से होगी। आयोजन में लाभार्थी परिवार की ओर से प्रभावना, परमात्मा एवं गुरु प्रतिमाओं की नयनाभिराम अंगरचना एवं प्रभु भक्ति एवं रोशनी भी होगी।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA