हनीट्रैप में फंसाने की कोशिश में गई युवक की जानः 6 लाख रुपयों के लिए कैद में रखा

PALI SIROHI ONLINE

उदयपुर-युवक का शव हॉस्पिटल में मिलने के मामले में पुलिस ने शनिवार को खुलासा किया है। सामने आया कि युवक को हनी ट्रैप में फंसान की साजिश थी। गिरोह ने रुपयों के लिए उसे अपने कब्जे में रखा था।

इस बीच युवक के सीने में दर्द होने पर तबीयत खराब हो गई और हॉस्पिटल ले जाते हुए मौत हो गई। इसके बाद गैंग के सदस्य हॉस्पिटल में शव छोड़कर भाग गए। वहीं उसकी पत्नी को फोन पर कहा कि-‘मदनमोहन हॉस्पिटल में है।’

मामले का खुलासा करते हुए उदयपुर के एसपी भुवन भूषण यादव ने बताया कि युवक कानोड़ थाना क्षेत्र के बड़ा राजपुरा गांव के निवासी मदनमोहन उर्फ टोनी (27) पुत्र कैलाशचंद पाटीदार था। युवक की शराब के ठेकों में भी साझेदारी थी। इस कारण गैंग का मुख्य सरगना राजू युवक को जानता था। राजू ने ही रुपए ऐंठने के लिए युवक को फंसाने की प्लानिंग की थी।

पहले दिन बेटा दुकान से घर नहीं लौटा, मोबाइल बंद एसपी ने बताया कि युवक एक फरवरी से लापता था, जिसका शव हॉस्पिटल में मिला था। मामले में युवक के पिता ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। युवक के पिता राजपुरा निवासी कैलाश चन्द्र पाटीदार ने रिपोर्ट में बताया था कि उनका बेटा कानोड रेलवे स्टेशन पर पाटीदार एजेंसी के नाम से किराणे की दुकान चलाता था। एक फरवरी की सुबह करीब नौ बजे बाइक पर दुकान गया था। शाम को जब वह घर नहीं लौटा तो फोन किया लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। उसका मोबाइल स्वीच ऑफ आया था।

कभी-कभी वह दुकान पर ही रात को सो जाता था। इस कारण परिवार ने ज्यादा नहीं सोचा। सुबह फोन आने पर हॉस्पिटल पहुंचे। तब उसका शव मिला।

बदमाशों ने युवक के घर किया फोन
दो फरवरी की सुबह करीब 9 बजे युवक की पत्नी रश्मि के मोबाइल पर फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि मदन मोहन भीण्डर हॉस्पीटल में है और फोन बंद कर दिया। जब वे अस्पताल पहुंचे तो युवक का शव पड़ा था। पुलिस भी मौके पर पहुंची। तब पिता ने हत्या का मामला दर्ज करवाया।

सीसीटीवी में दिखे थे तीन युवक
अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो तीन युवक नजर आए थे। युवकों ने अस्पताल स्टाफ को कहा था कि युवक डूंगला क्षेत्र में वाहन दुर्घटना में घायल हो गया है।

डूंगला में इलाज नहीं होने पर वे उसे भींडर सरकारी हॉस्पिटल लेकर आए थे। इसके बाद तीनों वहां से रवाना हो गए। डॉक्टरों ने जब स्ट्रेचर पर पड़े युवक की जांच की तो वह मृत पाया गया। इस आधार पर पुलिस ने इन युवकों की तलाश शुरू की।

तीनों युवक एपी-गुजरात की तरफ भागे एसपी ने बताया कि शव को सीएचसी भीण्डर छोड़ने वाले अज्ञात वाहन और सीसीटीवी में नजर आए युवकों पर जांच को आगे बढ़ाया गया था। वाहन मालिक रतनसिंह, उनके साथी राजू गुर्जर, पुष्पेन्द्र सिंह की पहचान कर तलाश शुरू की गई। टीम वाहन नम्बर से आरोपियों तक पहुंचने में मदद की। आरोपी घटना के बाद मुख्य मार्गों को छोड़कर कच्चे रास्ते से राजस्थान से बाहर मध्यप्रदेश व गुजरात की तरफ चले गए। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने आरोपियों के संभावित ठिकानों पर दबिश देकर धर दबोचा।

युवक को हनी ट्रैप में फंसाने की थी योजना गिरोह के मुख्य सरगना राजू ने साथियों से मिलकर युवक को हनी ट्रैप में फंसाने की योजना बनाई थी। राजू ने अपने साथी पुष्पेन्द्र सिंह, रतन सिंह, अनीश, साजिद के साथ मिलकर मध्यप्रदेश जीरापुर निवासी अंजू उर्फ हिना भिलाला को रुपयों का लालच देकर विशेष टास्क दिया था। युवक को फंसाने के लिए गैंग के सरगना ने अंजू को मोबाइल और सिम दिलवाया था। प्लानिंग के तहत दो फरवरी को घटना के करीब 15 दिन पहले चित्तौड़गढ़ की एक होटल में अंजू और युवक को मिलवाया गया था।

युवती से मिलने बाइक पर गया था
एक फरवरी को अंजु (हिना) ने युवक को चित्तौड़गढ़ के आवरीमाता मंदिर बुलाया था। युवक अपने घर से बाइक लेकर गया था। मंदिर से वापसी में अंजू को चौराहा पर छोड़ा था। प्लानिंग के अनुसार गिरोह के सदस्य साजिद ने अपने दोस्तों राजू गुर्जर, पुष्पेन्द्र सिंह, रतन सिंह के साथ रास्ते में युवक को रोका। साजिद ने अंजू को अपनी भाभी बताकर युवक को धमकी दी। कहा कि उसके साथ गलत काम करने के केस में फंसा देंगे। युवक के साथ मारपीट की।

छह लाख रुपए मांगे, युवक को कब्जे में रखा मारपीट के बाद गैंग के सदस्यों ने युवक से 6 लाख रुपए की डिमांड की। रुपए मिलने तक उसे अपने कब्जे में भी रखा। पूरी रात उसे अपने कब्जे में रखा। दो फरवरी की सुबह अचानक उसकी छाती में दर्द उठा। गैंग के लोग उसे इलाज करवाने के लिए भीण्डर के आरोग्यम हॉस्पिटल लेकर गए। वहां से सीएचसी भीण्डर ले जाते हुए रास्ते में युवक ने बोलना बंद कर दिया। इसके बाद बदमाश युवक को सीएचसी भीण्डर छोड़कर भाग गए। तब तक युवक की मौत हो चुकी थी।

यह भी पढे

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA