सांडेराव शक्ति व साधना का पर्व गुप्त नवरात्र महोत्सव पर मंदिरो व घरों में विशेष पूजा अर्चना के साथ हुई घट स्थापना

PALI SIROHI ONLINE

नटवर मेवाड़ा

सांडेराव शक्ति व साधना का पर्व गुप्त नवरात्र महोत्सव पर मंदिरो व घरों में विशेष पूजा अर्चना के साथ हुई घट स्थापना।

साण्डेराव- स्थानीय नगर सहित आस पास ग्रामीण क्षेत्रों में शक्ति व साधना का महापर्व गुप्त नवरात्र महोत्सव पर श्रद्धालुओं ने विशेष पूजा अर्चना कर मां भवानी के मंदिरों में धोक लगाकर परिवारजनों के लिए खुशहाली की मन्नतें मांगी। अम्बि‌का मंदिर परिसर में संत मनसुख हिरापुरीजी महाराज की पावन निश्रा में पंडित कांतिलाल ओझा व सहयोगी ब्राह्मणों ने वैदिक मंत्रों उच्चारण के साथ घट स्थापना कर विशेष पूजा अर्चना की गई। इस दौरान उपस्थित महिलाओं ने मां भवानी के एक से बढ़कर एक भजनों की प्रस्तुति देकर वातावरण को भक्तिमय बना दिया।

भगवान की पूजा से ज्यादा जरूरी है माता-पिता की आज्ञा:- हिरापुरी

भगवान से पहले जिन्होंने अपनों को इस संसार में लाया व दुनिया दिखाने वाले माता-पिता ही हमारे लिए सबसे पहले भगवान हैं,वही माता-पिता के अंदर ही पूरा संसार समाया हुआ है। यह बात संत मनसुख हिरापुरी जी महाराज ने शनिवार को गुप्त नवरात्र महोत्सव की घट स्थापना के दौरान अम्बिका मंदिर में धर्म सभा में उपस्थित श्रद्धालुओं को प्रवचनों के दौरान कहीं। संत ने कहा कि हर माता-पिता का कर्तव्य है कि वह अपनी संतान को पढ़ा लिखा कर योग्य बनाना एवं संस्कारवान् बनाना अति आवश्यक है।

ये भी पढे

उन्होंने भगवान श्री राम और श्रवण कुमार के उदाहरण देकर भक्तों को बताया कि माता-पिता की आज्ञा से भगवान श्री राम ने मोह माया का त्याग कर चौदह वर्षों के वनवास को निकल गएं और बेटे श्रवण कुमार ने अपने अंधे माता-पिता को कांवड में बैठाकर यात्रा करवाई थी,वैसे बेटे आज के इस युग में कहा हैं। पुत्र की प्राप्ति के लिए माता-पिता कहीं देवी देवताओं के मंदिरों में मन्नतें मांगते हैं और आज के इस कलयुग में तो थोड़ी बहुत बात पर वही बेटा अपनी बहु के खातिर माता-पिता को बाहर निकाल देता है या फिर वृद्धा आश्रम छोड़ कर आ जातें हैं। संत मनसुख हिरापुरी जी महाराज ने उपस्थित गुरूभक्तों को अपने माता-पिता की सेवा करने और सदैव अपने पास रखने व ख्याल रखने की सीख दी। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्तगण उपस्थित थे

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA