प्रदेश में यहा मेट्रो के जुड़ेंगे नए स्टेशन: जानें अब क्या होगा फायदा

PALI SIROHI ONLINE

जयपुर-राजस्थान की भजनलाल सरकार ने जयपुर मेट्रो फेज-2 में बड़ा बदलाव किया है। अब तक सीतापुरा से अंबाबाड़ी तक प्रस्तावित मेट्रो को विद्याधर नगर तक चलाने की घोषणा की है। इसकी घोषणा गुरुवार को राजस्थान विधानसभा में वित्त मंत्री दीया कुमारी ने की। अंतरिम बजट पेश करते समय दीया कुमारी ने जयपुर में प्रस्तावित मेट्रो फेज-2 के नए रूट की डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए।

इससे पहले कांग्रेस सरकार के समय फेज-2 की पहली डीपीआर बनाई जा चुकी है। साल 2012 में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) से बनवाई डीपीआर में 23.8 किलोमीटर का ट्रैक प्रस्तावित किया था। इस ट्रैक को बनाने में करीब 10 हजार 400 करोड़ रुपए की लागत आ रही थी। कांग्रेस सरकार ने बाद में इस रूट पर आने वाली लागत को कम करने के लिए संशोधित डीपीआर तैयार करवाई थी।

इसमें अंडरग्राउंड ट्रैक की लंबाई को कम करके उसे एलीवेटेड किया गया और ट्रेन को जेएलएन मार्ग (एयरपोर्ट से यूनिवर्सिटी तक) के स्थान पर सीधे टोंक रोड से निकाला गया। इसके बाद संशोधित डीपीआर में लागत कम होकर 6500 करोड़ रुपए पर पहुंच गई थी।

इससे पहले कांग्रेस सरकार के समय जयपुर में सीतापुरा से अंबाबाड़ी तक मेट्रो, बड़ी चौपड़ से ट्रांसपोर्ट नगर और मानसरोवर से अजमेर रोड तक भी मेट्रो ट्रैक बिछाया जाना प्रस्तावित था, जो कुल 55.2 किलोमीटर का था। इसमें 5784 करोड़ रुपए की लागत अनुमानित थी। अब सीतापुरा से विद्याधर नगर तक मेट्रो ट्रैक बनाने की तैयारी है। ऐसे में फेज-3 प्रोजेक्ट की लागत में भी बढ़ोतरी होने की संभावना है।

14 नंबर पुलिया तक विस्तार होने पर 6.8 किलोमीटर बढ़ेगा ट्रैक
राजस्थान सरकार द्वारा मेट्रो फेज-2 का विस्तार अगर 14 नंबर पुलिया तक किया जाता है। तो इसमें 3 नए मेट्रो स्टेशन बनने की संभावना है। यह रूट 6.8 किलोमीटर लंबा हो सकता है, जिसमें अंबाबाड़ी के बाद विद्याधर नगर, मुरलीपुरा और 14 नंबर पुलिया पर मेट्रो स्टेशन बनने की संभावना है।

बता दें कि 14 नंबर पुलिया पर सीकर और शेखावाटी इलाकों से हर दिन बड़ी संख्या में लोग रोजमर्रा का काम करने के लिए जयपुर पहुंचते है। ऐसे में सीतापुरा से 14 नंबर पुलिया की कनेक्टिविटी न सिर्फ राजधानी जयपुर बल्कि शेखावाटी से आने वाले लोगों को भी राहत देगी। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि मेट्रो फेज-2 का सरकार 14 नंबर पुलिया तक विस्तार कर सकती है। हालांकि इस विस्तार से प्रोजेक्ट की लागत में भी बढ़ोतरी होने की संभावना है।

फिलहाल बड़ी चौपड़ से मानसरोवर तक चलती है मेट्रो

जयपुर में अभी बड़ी चौपड़ से मानसरोवर के बीच मेट्रो चलती है। इस रूट की दूरी 11.3 किमी है। इस दूरी को तय करने में मेट्रो को 26 मिनट का वक्त लगता है। ऐसे में एक ट्रेन को आने-जाने में कुल 52 मिनट लगते हैं। बड़ी चौपड़ से मानसरोवर के बीच मेट्रो चलने के प्रोजेक्ट में करीब 3149 करोड़ रुपए खर्च हुए, जबकि इसके निर्माण कार्य में 10 साल 2 महीने का वक्त लगा। वर्तमान में मेट्रो मानसरोवर से शुरू होकर न्यू आतिश मार्केट, विवेक विहार, श्याम नगर, रामनगर, सिविल लाइंस, रेलवे स्टेशन, सिंधी कैंप, चांदपोल, छोटी चौपड़ और बड़ी चौपड़ तक जाती है।

पुराने मेट्रो ट्रैक को भी बढ़ाया, निर्माण काम जारी

इस रूट को भी मानसरोवर से बढ़ाकर 200 फीट बाइपास (अजमेर रोड) और बड़ी चौपड़ से बढ़ाकर ट्रांसपोर्ट नगर तक किया गया है। बड़ी चौपड़ से ट्रांसपोर्ट नगर के बीच बनने वाली मेट्रो की दूरी कुल 2.85 किमी है। इस दूरी में दो मेट्रो स्टेशन बनेंगे। पहला स्टेशन रामगंज तो दूसरा ट्रांसपोर्ट नगर होगा। 2.85 किमी की दूरी में 0.59 किमी का ट्रैक एलिवेटेड होगा, जबकि 2.26 किमी में ट्रैक अंडरग्राउंड रहेगा। इसमें बड़ी चौपड़ से अनाज मंडी तक अंडरग्राउंड ट्रैक रहेगा। इसके आगे का रूट एलिवेटेड होगा। रामगंज मेट्रो स्टेशन अंडर ग्राउंड और ट्रांसपोर्ट नगर मेट्रो स्टेशन एलिवेटेड होगा। इसी तरह मानसरोवर से अजमेर बाइपास रूट की दूरी 2 किमी है। ये 2 किलोमीटर का ट्रैक एलिवेटेड होगा।

बड़ी चौपड़ से ट्रांसपोर्ट नगर तक मेट्रो का 2.85 किलोमीटर का काम 980 करोड़ की लागत से पूरा होगा। इसकी टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही निर्माण काम शुरू हो चुका है। वहीं मानसरोवर से अजमेर रोड चौराहे पर मेट्रो ट्रैक के 1.35 किलोमीटर का काम 204 करोड़ की लागत से पूरा होगा।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA