छात्र के मर्डर के आरोपी के घर पर चला बुलडोजर: कुल्हाड़ी से वार कर की थी हत्या; शव को गोबर के ढेर में दबा दिया था

PALI SIROHI ONLINE

नागौर-नागौर में 17 साल के स्कूली छात्र की कुल्हाड़ी से हत्या कर शव गोबर के ढेर में छुपाने वाले आरोपी रसूल मोहम्मद उर्फ बबलू घोसी के घर को सोमवार को प्रशासन ने बुलडोजर से गिरा दिया। इस दौरान एसडीएम सुनील कुमार, नागौर सीओ ओमप्रकाश यादव, तहसीलदार रामेश्वर गढ़वाल समेत पुलिस जाब्ता मौके पर मौजूद रहा।

आरोपी बबलू घोसी उर्फ रसूल मोहम्मद के घर पर 24 घंटे पहले ही अतिक्रमण का नोटिस चस्पा किया गया था। इसके बाद सोमवार सुबह 10 बजे अंगोर में खसरा नंबर 34 पर बने उसके मकान को बुलडोजर से तोड़ दिया गया।

नागौर सीओ ओपी गोदारा ने बताया- बबलू उर्फ रसूल मोहम्मद के कृत्य के खिलाफ राज्य सरकार ने कड़ा फैसला लिया है। उसके अतिक्रमण को हटाया गया है। आरोपी के अतिक्रमण को ध्वस्त किया गया है। इस तरह की कार्रवाई से कड़ा संदेश दिया गया है। ऐसा अपराध सामने आएगा तो जरूर ऐसी कार्रवाई होगी।

भाजपा प्रवक्ता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने X पर कहा कि राजस्थान के नागौर में 14 साल के दलित छात्र की हत्या के आरोपी के घर बुलडोजर पहुंच गया है। भाजपा राज में अपराधियों का संरक्षण नहीं सर्वनाश होगा।

क्या था मामला
नागौर की सेंट पॉल स्कूल की 11वीं क्लास में पढ़ने वाले यशराज नाइक का शव शुक्रवार (2 फरवरी) को बलदेवराम संत नगर स्थित पानी की टंकी के पास बोरे में मिला था। यशराज 19 जनवरी से लापता था। शव मिलने के बाद उसके पिता पुखराज नायक ने नागौर पुलिस पर मामले को हल्के में लेने और ढिलाई बरतने के आरोप लगाए थे।

पुलिस पूछताछ में गुनाह किया था कबूल
पुलिस पूछताछ में बबलू उर्फ रसूल मोहम्मद ने बताया था कि उसने यश का मर्डर कर शव बोरे में डाला और गोबर में दबा दिया। पास में उसका स्कूल बैग जला दिया था। यश पास की निजी स्कूल में ही पढ़ाई करने के लिए बाइक लेकर आता था। पुलिस ने यश की बाइक और मोबाइल बरामद लिया।

यश 6 महीने से बबलू खान के संपर्क में था। यश के साथ बबलू समलैंगिक संबंध बनाना चाहता था। यश ने विरोध किया और गलत काम की पुलिस में रिपोर्ट करने की धमकी दी तो बबलू ने उसकी हत्या कर डाली।

हत्या के बाद बबलू ने कमरा लॉक किया और मौका मिलने पर शव बोरे में पैक कर गली के दूसरी तरफ जलदाय विभाग की टंकी के स्थान वाली खाली जगह में पड़े गोबर में दबा दिया। इसके बाद आरोपी हर दिन शव पर बाड़े में बंधे पशुओं का गोबर डालता रहा।

पिता ने पुलिस से लगाई थी गुहार
बता दें कि के छात्र यश की मौत के बाद उसके पिता पुखराज नायक ने नागौर पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए थे। पुखराज ने आरोप लगाया था कि बेटे के गायब होने के बाद उसने पुलिस ने बहुत मिन्नतें कीं, लेकिन उसे कहा गया कि आपका बेटा दूध पीता बच्चा नहीं है।

शव को पिता ने अपने स्तर पर 100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगालकर सबूत भी जुटाए थे, लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया था। आखिर बेटे की लाश गोबर के ढेर में बोरी में बंधी हुई मिली थी।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA