बॉयफ्रेंड के लिए सहेली को मार डालाः गला घोंटा, चाकू से चेहरा बिगाड़कर कुएं में फेंका

PALI SIROHI ONLINE

बांसवाड़ा-नाबालिग गर्लफ्रेंड ने अपने बॉयफ्रेंड के साथ लाइफ बिताने के लिए अपनी ही सहेली का मर्डर कर दिया। इसके बाद उसे अपने कपड़े पहनाकर लाश को गांव के पास ही कुएं में डाल दिया। इससे पहले चाकू से सहेली का चेहरे पर कई वार किए ताकि बॉडी पहचान में न आए। गर्लफ्रेंड यह चाहती थी कि उसके घरवालों को लगे कि वह मर गई है। इसके बाद वह अपने बॉयफ्रेंड के साथ सुकून से रहती। पर ऐसा नहीं हो पाया। कुएं से शव बरामद हुआ और उसकी पहचान हो गई। इसके बाद पुलिस ने कड़ी से कड़ी जोड़ ली और आरोपियों तक पहुंच गई। पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ कि प्रेमी जोड़ों ने क्राइम पेट्रोल देखकर यह प्लानिंग की थी। मामला बांसवाड़ा के सल्लोपाट इलाके का है।

सोमवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलिस ने इस चौंकाने वाले मामले का खुलासा किया है।

जानें क्या था मामला

एडिशनल एसपी कानसिंह भाटी ने बताया- घटना 1 फरवरी की है। सुहानी (काल्पनिक नाम) की मां ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दी थी। उसकी 15 साल की बेटी सुहानी 10वीं क्लास में पढ़ती है। 1 फरवरी को शाम को 4 बजे स्कूल से घर आई और रात को 9 बजे दादी के घर पढ़ने जा रही हूं ऐसा कहकर निकली थी। उसके बाद वापस घर नहीं आई। छानबीन शुरू हुई तो अगले दिन यानी 2 फरवरी को दोपहर में उसका शव एक कुएं में पड़ा मिला। चेहरे पर गहरे घाव थे। कलाई भी काटी गई थी। सुहानी ने जो कपड़े पहने थे वो उसके नहीं बल्कि उसके साथ पढ़ने वाली सहेली दिशा (काल्पनिक नाम) के थे।

अफेयर के चलते हुई हत्या

एडिशनल एसपी कानसिंह भाटी ने बताया- आनंदपुरी थानाधिकारी कपिल पाटीदार, सल्लोपाट थानाधिकारी नागेंद्र सिंह की एक टीम बनाई गई। जब पुलिस ने दिशा के घर जाकर पता किया तो बताया कि वो उसी दिन शाम को 5 बजे दूसरे गांव बाकलो जाने का कहकर निकली थी। पुलिस ने दिशा को आधार बनाकर जांच शुरू की। मुखबिरी और साइबर टीम की मदद से तलाश शुरू की।

पुलिस इन्वेस्टिगेशन में पता चला कि सुहानी की सहेली दिशा का गांव के ही एक लड़के दीपक (काल्पनिक नाम) से अफेयर था। उससे वो शादी करना चाहती है। साइबर टीम की मदद से मालूम चला कि दिशा अपने बॉयफ्रेंड दीपक के साथ गुजरात के गांधीनगर में है। पुलिस की टीम गांधीनगर पहुंची तो दोनों नाबालिग वहां से भाग निकले।

पुलिस टीम ने तत्काल उसी रूट पर चलने वाली बसों की तलाशी ली। 10 से 12 गुजरात रोडवेज की बसों की तलाशी ली। करीब 30 किलोमीटर दूरी पर दोनों नाबालिगों को बस से डिटेन कर लिया गया।

पूछताछ में दिशा ने बताया- दोनों अच्छी सहेली थीं। साथ-साथ स्कूल आना-जाना करते थे। घटना के दिन भी दोनों साथ ही स्कूल गए थे। इसके बाद शाम को 5 बजे वह सुहानी के घर आई और कहा- रात को बाकलो (पास के गांव) जाना है। फिर वो वापस अपने घर लौट आई। इधर दिशा ने घर जाकर परिजनों से कहा कि कुछ काम से बाहर जा रही हूं। वो गांव में ही खेतों में छिप गई। प्लान के मुताबिक दिशा ने अपने बॉयफ्रेंड दीपक को भी गुजरात से बुला लिया था। इधर, सुहानी अपने घर से दादी के पास जाने का कहकर निकली थी।

तभी बीच रास्ते में दिशा और उसके बॉयफ्रेंड दीपक ने बातों में बहलाया और गांव के पास ही एक कुएं के करीब ले गए। दोनों ने गला दबाकर सुहानी को मार दिया। उसके बाद दिशा जो कपड़े लाई थी वो पहना दिए। बाद में सुहानी के गर्दन, गाल, सिर और शरीर के अन्य अंगों पर छुरे से जगह-जगह काट डाला। ताकि शव की पहचान नहीं हो पाए। इसके बाद शव कुएं में फेंक दिया।

पूछताछ में बोली- घरवाले ये सोचते कि मैं मर गई हूं

दिशा ने बताया कि वो दीपक से बहुत प्रेम करती है। उसके साथ शादी करना चाहती है। एक ही गांव के होने के कारण सर्वसम्मति से शादी करना मुश्किल था। इसलिए यह प्लान बनाया कि सुहानी की हत्या कर के शव को मेरे कपड़े पहना देंगे। कुएं में पड़ा शव क्षत-विक्षत होकर सड़ जाएगा। पहचान नहीं हो पाएगी। कपड़ों से परिजन समझेंगे की मैं (दिशा) मर चुकी हूं। इसका फायदा उठाकर वो गुजरात में बॉयफ्रेंड दीपक के साथ आसानी से रह सकती है।

क्राइम पेट्रोल देखकर बनाई योजना पूछताछ में सामने आया कि दिशा के पास स्मार्टफोन है। वो इस हत्या की प्लानिंग महीनेभर पहले से कर रही थी। वो क्राइम पेट्रोल और सीआईडी देखने की शौकीन है। इसी दौरान कई क्राइम एपिसोड देखने के बाद उसे ये हत्या का आइडिया आया।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA