पाली स्काउट प्रशिक्षणार्थियों को तम्बाकु के गम्भीर दुष्परिणामों के बारे में किया जागरूक

PALI SIROHI ONLINE

पाली स्काउट प्रशिक्षणार्थियों को तम्बाकु के गम्भीर दुष्परिणामों के बारे में किया जागरूक
तम्बाकु से तबाही तय है, के बारे में साझा की जानकारी
तम्बाकु उत्पादों से दूर रहने की प्रतिज्ञा भी दिलवाई

पालीः चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा ’’ युवाओं को नशे से दूर रखना ’’ अभियान के तहत कॉलेज विद्यार्थियों को तम्बाकु उत्पादों से आजीवन दूर रखने हेतु जागरूक करने के उद्देश्य से शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर बजरंगबाड़ी में संचालित स्काउट गाईड प्रशिक्षण कॉलेज में जागरूकतता गतिविधियों का आयोजन किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. इन्दरसिंह राठौड़ ने बताया कि शुक्रवार को जिला तम्बाकु नियंत्रण द्वारा युवाओं के लिये जागरूकता गतिविधियों के आयोजन की कड़ी में जिले के महाविद्यालयों में युवाओं को तम्बाकु के गम्भीर दुष्परिणामों के प्रति जागरूक किया जायेगा ताकि वे आजीवन तम्बाकु उत्पादों के सेवन से बचे रहें। उन्होंने बताया कि ए.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के प्रधानाचार्य एवं तम्बाकु मुक्ति केन्द्र के सायकोलोजिस्ट के. सी. सैनी से स्काउट प्रशिक्षणार्थियों को विभिन्न गतिविधियों द्वारा जागरूक किया तथा उनको तम्बाकु मुक्ति की प्रतिज्ञा भी दिलवाई। उन्होंने बताया कि स्काउट परिवार का हिस्सा होने के कारण यह आवश्यक है,कि हम सभी अनुशासित रहें तथा किसी भी प्रकार के नशे की लत से बचे रहें। साथ हीह म जिन संस्थानों में सेवायें प्रदान करेंगें वहॉं पर बच्चे एवं युवा लोगों को जागरूक करेंगें ताकि वे भी तम्बाकु की पहुॅंच से दूर रहें, इस ओर विशेष प्रयास करने की की आवश्यकता है। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. विकास मारवाल ने बताया कि स्काउट प्रशिक्षण़ कॉलेज में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम के दौरान सायकोलोजिस्ट के. सी. सैनी ने विद्यार्थियों जानकारी देते हुये कहा कि तम्बाकु से तबाही तय है, इसलिये युवाओं को तम्बाकु उत्पादों से दूरी बनाये रखना अतिआवश्यक है। के.सी. सैनी ने स्काउट प्रशिक्षणार्थियों को कोटपा-2003 के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की तथा तम्बाकु सेवन के कारण हो रही भयावह मौतों के आंकड़े भी प्रस्तुत किये तथा बताया कि तम्बाकु सेवन करने वाले आधे से अधिक लोग तम्बाकु के कारण होने वाले गम्भीर दुष्परिणामों के कारण असमय मौत का शिकार हो जाते हैं। उन्होंने बांगड़ चिकित्सालय स्थित ए.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र पर संचालित तम्बाकु मुक्ति एंव परामर्श केन्द्र की कार्यप्रणाली के बारे में भी जानकारी प्रदान की,जहॉं पर तम्बाकु की लत छुड़वाई जाती है तथा लोगों का परामर्श किया जाता है। सायकोलोजिस्ट के.सी. सैनी ने प्रशिक्षणार्थियों को बताया कि वे अब तम्बाकु सेवन करने वाले लोगों को रोकना एवं टोकना शुरू करें तथा अपने साथ आसपास के लोगों तथा अन्य मित्रों को भी इस बारे में बतायें। उनके घर में यदि कोई सदस्य तम्बाकु का सेवन कर रहा है तो उसे स्वयं की सोैगन्ध दिलवाकर तम्बाकु सेवन बन्द करवाने का प्रयास कर सकते हैं, फिर भी यदि उनका तम्बाकु सेवन बन्द नहीं होता है,तो ऐसे लोगों को बांगड़ चिकित्सालय में संचालित तम्बाकु मुक्ति एवं परामर्श केन्द्र में भेजने की व्यवस्था करें,जहॉं पर इनकी तम्बाकु सेवन की लत को छुड़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि तम्बाकु से कैंसर एवं असमय मौत होने की प्रबल सम्भावना है। तम्बाकु के सेवन से कैंसर हो जाने पर पूरा परिवार तबाह हो जाता है, इसे रोकने का आसान तरीका है कि लोगों को तम्बाकुु का सेवन नहीं करने हेतु प्रेरित किया जाये।

कार्यक्रम के अंत में उपस्थित सहभागियों ने तम्बाकु के बारे में काफी प्रश्न पूछे तथा उन्हें सही जानकारी प्रदान की। कार्यक्रम के दौरान ही स्वास्थ्य विभाग तथा जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय स्तर पर तैयार की गई लघु फिल्म ’’ तम्बाकु से तबाही तय है ’’ के बोर में भी जानकारी प्रदान की,जिसमें तम्बाकु के गम्भीर दुष्परिणामों के बारे में प्रस्तुतीकरण किया गया है।

जागरूकता कार्यक्रम के दौरान सी.ओ. गोविन्द मीणा, सी.ओ. गाईड डिम्पल दवे, स्काउट प्रशिक्षक पुरूषोत्तमपुरी गोस्वामी, भगतसिंह, दौलतसिंह, चन्दनमल, मोहनसिंह राठौड़, एनटीसीपी सैल के रेवन्तराम सहित कई विभागीय कर्मचारी उपस्थित रहे। सी.ओ. स्काउट गोविन्द मीणा ने चिकित्सा विभाग का आभार प्रकट किया तथा आगे भी इसी प्रकार की गतिविधियां संचालित करने का आह््वान किया।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA