खड़ी ट्रॉली में घुसी बाइक, दो युवकों की मौतः घर से 1 किलोमीटर पहले आ गई मौत

PALI SIROHI ONLINE

जोधपुर-जोधपुर ग्रामीण के देचु थाना क्षेत्र के मुख्य बाजार में सड़क हादसा सामने आया। यहां पर खड़े ट्रैक्टर ट्रॉली में घुसने से दो युवक घायल हो गए। जिन्हें इलाज के लिए जोधपुर लाया गया । जहां घायलों ने दम तोड़ दिया। हादसे के बाद परिवार के सदस्यों का रो रोकर बुरा हाल है।

जानकारी के अनुसार देचु निवासी पमाराम प्रजापत (27) व सवाई राम प्रजापत (18) देचु बाजार से अपने गांव घर पर बाइक पर सवार होकर जा रहे थे। शनिवार रात 8 बजे के करीब हाइवे पर खड़े एक ट्रैक्टर ट्रॉली को देख नहीं पाए और उनकी बाइक ट्रॉली में जा घुसी। जिससे दोनों घायल हो गए। आस-पास के दुकानदारों और वाहन चालकों ने उन्हें निजी वाहन की मदद से देचु के सामुदायिक स्वाथ्य केंद्र पर लेकर आए। यहां हालात गंभीर होने पर उसे जोधपुर रैफर कर दिया गया। जहां देर रात दोनों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि देचु के बाजार में कई जगहों पर अतिक्रमण है। इसके चलते हाइवे पर भी वाहन पार्क किए जा रहे हैं। इसी के चलते दोनों रात के अंधेरे में खड़े ट्रैक्टर को देख नहीं पाए और पीछे ट्रॉली से टकरा गए। घटना की सूचना मिलने के बाद थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची।

मृतक सवाईराम व पमाराम आपस में दूर के रिश्तेदार हैं। सवाई राम के पिता मोतीराम बस स्टैंड पर ही पकौड़े का ठेला लगाते हैं। यहां पर पढ़ाई के साथ ही सवाई भी काम में हाथ बंटाता था। घटना की रात सवाई राम व पमाराम अपने रिश्तेदार के घर हुई गमी में शामिल होने के लिए देचु गांव के समीप ढाणियों में गए थे। यहां से अपने घर पर वापस लौट रहे थे। तभी हादसा हो गया। सवाई राम दो भाईयों में सबसे छोटा था। उसका बड़ा भाई भी मजदूरी कर परिवार चलाते हैं। जबकि पमाराम पांच भाईयों में सबसे छोटा था।

इधर हादसे की खबर सुनकर परिवार के लोगों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। जैसे ही परिजनों ने दोनों के साथ हुई हादसे की बात सुनी उनकी रूलाई फूट पड़ी। आनन फानन में दोनों को हॉस्पीटल लाया गया। जहां दोनों की मौत हो गई।

पुलिस नहीं करती कार्रवाई

हादसे के बाद पुलिस गश्त पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। जहां पर हादसा हुआ उससे कुछ ही दूरी पर देचु का पुलिस थाना भी है। जबकि राष्ट्रीय राजमार्ग 125 होने की वजह से यहां पर रोजाना हजारों की संख्या में जैसलमेर रामदेवरा की तरफ जाने वाले वाहनों की आवाजाही रहती है। यहां पर बस स्टैंड पर ही कई दुकानदारों ने अतिक्रमण कर कब्जा जमा लिया है। वहीं पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने की वजह से खरीदारी के लिए आने वाले वाहन भी हाइवे पर ही खड़े कर दिए जाते हैं। इसके चलते पूर्व में भी कई बार हादसे हो चुके हैं। बावजुद पुलिस की और से ढिलाई बरती जा रही है। लोगों का कहना है कि यदि वाहन सड़क पर खड़ा नहीं होता तो दोनों आज हादसे के शिकार नहीं होते।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA