सस्पेंड इनामी कांस्टेबल की संदिग्ध हाल में मौत

PALI SIROHI ONLINE

सांचोर-एक हजार रुपए के इनामी सांचौर के सांकड़ा निवासी गंगाराम पुत्र बाबूलाल विश्नोई (32) की जोधपुर के रातानाड़ा थाना क्षेत्र में संदिग्ध हालत में मौत हो गई। मृतक उदयपुर में पुलिस कांस्टेबल था। उसका नाम स्मैक तस्करी से जुड़ने के बाद उदयपुर पुलिस ने उसे सस्पेंड कर दिया था। स्मैक तस्करी से नाम जुड़ने के बाद वह कई महीनों तक फरार भी रहा था। इसे लेकर सांकड़ निवासी उसके चाचा बीरबलराम पुत्र हीरा राम विश्नोई ने रातानाडा थाने में मर्ग दर्ज कराया है।

मामले में अनुसंधान अधिकारी भंवरसिंह ने बताया कि अभी मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। उन्होंने बताया कि विश्नोई धर्मशाला से सूचना मिलने पर थाने से टीम मौके पर गईं। मृतक का मुंह और नाक से खून और लार से सना मिला। इस पर मृतक का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया। अभी इसकी जिसकी रिपोर्ट आनी बाकी है। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो पाएगा। पुलिस पूछताछ में विश्नोई धर्मशाला प्रबंधक ने बताया कि मृतक गंगाराम सोमवार रात करीब 11 बजे रातानाड़ा स्थित विश्नोई धर्मशाला पहुंचा और वहीं कमरा नंबर 10 में रुका। वह अकेला ही धर्मशाला पहुंचा था। मंगलवार दोपहर को पता चला कि उसकी मृत्यु हो चुकी है।

गंगाराम 3 राज्यों के बड़े ड्रग पेड़ों में से एक जैता राम का दामाद था

गंगाराम तीन राज्यों के सबसे बड़े ड्रग पेडलरों में से एक दांता निवासी जैता राम का दामाद था। साथ ही वह ससुर की गैंग का भी हिस्सा था। गंगाराम अपने ही ससुर और उनके परिवार के साथ मिलकर स्मैक और एमडी की तस्करी करता था। उस पर पुलिस ने 1 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था।

22 नवंबर, 2023 को गंगाराम को उदयपुर पुलिस ने किया किया था निलंबित

सिरोही के मंडार थाना पुलिस द्वारा फरवरी 2022 में गंगाराम के ससुर जैताराम की 1 करोड की ड्रग पकड़ी थी। इस मामले में गंगाराम की संलिप्तता पाई गई थी। इसके विरुद्ध मंडार थाने में एनडीपीएस एक्ट में मामला दर्ज है। जानकारी के अनुसार गंगाराम उदयपुर से सांचौर अपने ससुर तक ड्रग पहुंचाने में सहयोग करता था।

इस मामले के बाद से ही वह फरार चल रहा था। लम्बे समय तक फरार रहने पर पुलिस ने उस पर इनाम घोषित किया था। गंगाराम को मंडार पुलिस ने तलाशने की काफी कोशिश की, लेकिन वह हाथ नहीं आया। 22 नवंबर 2023 को गंगाराम को उदयपुर पुलिस ने निलंबित कर दिया था। निलंबन के समय पुलिस लाइन में तैनात था।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA