पूर्व सरपंच को 6 साल का कठोर कारावासः फर्जी टीसी से चुनाव लड़ने का मामला,

PALI SIROHI ONLINE

सांचौर-सांचौर में फर्जी टीसी से सरपंच का चुनाव लड़ने पर पूर्व सरपंच को 6 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई गई है। साथ ही कुल 6 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। मामला चितलवाना पंचायत समिति के केरिया की पूर्व सरपंच मदुदेवी का है। 8 साल पुराने मामले में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सांचौर हरीश कुमार ने सजा सुनाई है।

राज्य सरकार की ओर से पैरवी करते हुए अभियोजन अधिकारी महेश कुमार डाबी ने बताया कि नारणाराम ने 2016 में मदुदेवी और अन्य के खिलाफ इस्तगासा पेश किया था। चितलवाना थाने से एफआईआर दर्ज जांच पूरी करके अभियुक्ता मदु देवी के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 471 भारतीय दंड संहिता में आरोप पत्र प्रस्तुत किया था। जिसमें राज्य सरकार की ओर से कुल 4 गवाह के बयान करवाए गए। वहीं, 14 दस्तावेज भी प्रदर्शित करवाए गए।

एसीजेएम हरीश कुमार ने अपने आदेश में सजा सुनाते हुए तल्ख टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि अभियुक्ता मदुदेवी ने 8वीं पास एवं नौवीं कक्षा दीर्घकालीन अनुपस्थिति की टीसी पेश कर 2016 में सरपंच पद का चुनाव लड़ा। इसके बाद लगातार पांच साल तक कार्यकाल पूरा करते हुए पद पर आसीन रही। प्रथम दृष्ट्या आरोपिया मदु देवी ने पद पर रहकर लाभ प्राप्त किया जो कि एक गंभीर अपराध है।

एसीजेएम ने कहा- न्याय होना ही नहीं चाहिए, न्याय होते हुए दिखना भी चाहिए। ऐसे में मात्र महिला होने के आधार पर वो अपने आपराधिक कृत्य से बच नहीं सकती। इस पर एसीजेएम ने केरिया निवासी पूर्व महिला सरपंच मदू देवी को धारा 467, 468 व 471 के तहत दोषी मानते हुए 4, 5, 6 वर्ष के कठोर कारावास के साथ उसी धाराओं में 1, 2 और 3 लाख सहित कुल 6 लाख का जुर्माना लगाया है। साथ में भादस की धारा 420 में संदेह का लाभ देकर दोषमुक्त किया।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA