बाली- लुणावा ग्राम में 3 बन्दरो का शिकार कर भागे शिकारी, एक बंदर का शव गिरा, विधायक राणावत ने भी मामले को लिया गभीरता से दिए निर्देश

PALI SIROHI ONLINE

पिन्टू अग्रवाल

पाली। बाली उपखण्ड के लुणावा के प्रसिद्ध ओर आस्था का केंद्र कोटेश्वर महादेव मंदिर जहा भक्त भगवान के दर्शन करने आते है साथ ही भकतो और ग्रामीणों ओर मंदिर ट्रस्ट द्वारा वन्यजीवो के संरक्षण सेवा भाव के चलते लोग दर्शन के बाद मंदिर परिषर में बंदरों को भोजन पानी की बेहतर व्यवस्था नियमित करते है। पर आज 3 लोगो ने 3 बन्दरो का शिकार किया पुजारी ने पीछा किया तो एक बंदर का शव छोड़ भाग गए अज्ञात 3 युवक।

बेग में बरामद बन्दर

इस मामले की सूचना मिलते ही बाली विधायक पुष्पेंद्र सिंह राणावत ने भी मामले को गभीरता से लेते हुए घटना पर दुःख जताते हुए वन अधिकारियों को निर्देशित करते हुए मामले का जल्द खुलाशा करने का निर्देश देते हुए कहा कि बाली विधानसभा क्षेत्र में वन्यजीवों के साथ ऐसी घटना की पुनरावर्ती ना हो को लेकर आपके विभाग द्वारा कार्य योजना बनाकर प्रगति रिपोर्ट से अवगत कराने के निर्देश दिए

और उसी सेवाभाव की वजह से जंगल में बंदरों के लिए अपने घरों से खाने हेतु ले जाते है, और बंदरों के बड़े बड़े झुंड आज की स्तिथि में यहा मौजूद है जो वन पर्यावरण के साथ देशी विदेशी पर्यटकों के लिए भी यह आस्था का स्थल महत्वपूर्ण बना हुआ है।

शिकारी या वन्यजीवो के अंग तस्करी से जुड़े लोगों की नजर लगी जांच में होगा खुलाशा

मंगलवार को पुजारी में 3 लोगो को बंदरों को सीमेंट के खाली बैग में डालकर ले जाते देखा तो पूजा करने वाले बंशीलाल कुमावत ने देख लिया वो पीछे भागे तो एक बैग गिर गया ।जिसे खोला गया तो उसने मृत बंदर था पुजारी के अनुसार अज्ञात लोग दो बैग लेकर भाग गए। बन्दरो का मामला सभवतय पहली बार सामने आया है अज्ञात लोगों का मकशद शिकार या वन्यजीवो के अंग तस्करी है यह तो जांच में ही खुलाशा हो पायेगा।

बंदरों के मारने की सूचना लुणावा सहित आसपास के गांव में मिली तो भक्तो और ग्रामीणों ने रोष जताकर प्रशासन को इन लोगो के गिरफ्तारी की मांग की। खबर लिखे जाने तक वन अधिकारियों की टीम घटना स्थल पर पहुच गई है।

सूत्रों के अनुसार घटना स्थल के पास वनविभाग की दीवार निर्माण का कार्य चल रहा है वहा बाहरी कंजर जाती के लोग कार्यरत है और घटना के बाद से वहा कार्य करने वाले श्रमिक फरार बताये जा रहे।

ग्रामीणों ने वनविभाग की दीवार निर्माण में लगे श्रमिको की सूची सार्वजनिक कर पुलिस को देने की मांग की जिससे पता चले कि इससे पूर्व भी आरोपियों ने कितने बन्दरो को शिकार बनाया।

मिरगेश्वर सरपंच छैल सिंह चौहान ने बताया कि लुणावा के प्रसिद्ध ओर आस्था का केंद्र कोटेश्वर महादेव मंदिर पर बन्दरो की हत्या का मामला सामने आया में व्यक्तिगत तौर से आहत और आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी हो

लुणावा के ज्योतिष भरत ओझा ने कहा बन्दरो के शिकार की घटना दुखदायी है प्रसासन पहुच गया जांच में साफ होगा मकशद शिकार था या अन्य लोगो मे रोष व्याप्त है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA