बाली-सेना लेपर्ड क्षेत्र में ईमादारी जिंदा-अक्षय सिंह राणावत लैपर्ड पैराडाइज रिसोर्ट के मालिक है,30 हज़ार नकद ओर अमेरिका डॉलर से भरा पर्स लौटाया

PALI SIROHI ONLINE

पिन्टू अग्रवाल

पाली। बाली में सेना लेपर्ड क्षेत्र में ईमानदारी आज के इस युग में जिंदा है। चंद रुपए के लिए लोगों का ईमान डगमगा जाता है। लेकिन आज भी कई लोगों में ईमानदारी जिंदा हैं। इसका उदाहरण से सेणा निवासी अक्षय सिंह राणावत लैपर्ड पैराडाइज रिसोर्ट के मालिक है,

जिन्होंने दिया, शाम को आप गांव के पास भ्रमण के लिए निकले हुए थे की उसी दौरान रास्ते में एक पर्स मिला, जिसमे टोटल 30 हजार इंडियन करेंसी और कुछ अमेरिकन डॉलर और डेबिट, क्रेडिट कार्ड और अमेरिकन बैंक का ब्लैंक चैक के साथ आधार कार्ड और भी कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज थे, लेकिन उसमे कही कांटेक्ट नंबर नही थे,

उन्होंने समझदारी दिखाते हुए डेबिट कार्ड से कॉन्टेक्ट नंबर निकालने का उपाय सोचा और सुमेरपुर एक्सिस बैंक के मैनेजर विक्रम सिंह राठौड़ से संपर्क किया जिन्होंने तत्परता दिखाते हुए तुरंत प्रभाव से उनके कांटेक्ट नंबर निकलवाए लेकिन वो कांटेक्ट नंबर अंतरराष्ट्रीय थे तो, उसपे व्हास्टप वॉइस कॉल के जरिए कॉन्टेक्ट किया, और अनंत संपर्क साधने में कामयाब हुए, वो पर्स बड़ौदा निवासी विराल वोरा का था, विराल वौरा NRI है और भ्रमण के लिए जवाई बांध आए थे वो अमरीका में प्रतिष्ठित कंपनी में जॉब करते है, लेपर्ड सफारी करते हुए पर्स गिर गया होगा, विराल वोरा जी ने तो मान लिया था अब मिलना मुश्किल हैं लेकिन वो इस सब प्रयासों के देखकर बहुत खुश हुए और अक्षय सिंह राणावत और बैंक मेनेजर विक्रम सिंह राठौड़ की बहुत प्रशंसा की, और इन्होंने कहा की वास्तव में यह भूमि चीतो की है, जितने फुर्तीले चीते होते है, उनसे भी कही ज्यादा फुर्तीले यहा के लोग है जिन्होंने मिनटों में मेरे से संपर्क किया और मेरा पर्स मुझ तक पहुंच गया, में यह वाक्या जिंदगी भर याद रखूंगा और मेरे मित्रो और संबधियो को जवाई लेपर्ड की सफारी करने के लिए प्रेरित करता रहूंगा !!

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA