विधानसभा सत्र शुरू, धारीवाल ने व्यवस्था का प्रश्न उठायाः बोले- यह भजन मंडली नहीं है; कोई ट्रैक्टर से तो कोई बाइक से पहुंचा

PALI SIROHI ONLINE

जयपुर-16वीं विधानसभा का पहला सत्र आज सुबह 11 बजे से शुरू हो गया है। 199 नए विधायकों को शपथ दिलाने के लिए दो दिन के लिए यह विशेष सत्र बुलाया गया है। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस विधायक शांति धारीवाल ने व्यवस्था का प्रश्न उठाया और कहा- यह भजन मंडली नहीं है। धारीवाल ने अचानक विधानसभा सत्र बुलाने पर आपत्ति जताई।

इसके बाद प्रोटेम स्पीकर कालीचरण सराफ ने नए विधायकों को शपथ दिलाना शुरू किया। सबसे पहले सीएम भजनलाल शर्मा और उसके बाद डिप्टी सीएम दीया कुमारी और डॉ. प्रेमचंद बैरवा ने शपथ ली। फिर एक-एक करके दूसरे विधायकों को शपथ दिलाई जा रही है

सत्र के पहले दिन नव निर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाने का काम पूरा होने की संभावना है। गुरुवार को बचे हुए विधायकों को शपथ दिलाने के बाद स्पीकर का चुनाव होगा। अब तक के रिकॉर्ड के अनुसार पहले दिन ज्यादातर विधायक शपथ ले लेते हैं।

पिछली बार कांग्रेस सरकार के समय 15 जनवरी 2019 को 15 वीं विधानसभा का पहला सत्र बुलाया गया था, पहले दिन 197 विधायकों की शपथ हो गई थी। राजस्थान विधानसभा में सर्वसम्मति से स्पीकर का चुनाव की परंपरा रही है। इस बार भी यही परंपरा निभाई जाएगी, वासुदेव देवनानी का सर्वसम्मति से स्पीकर चुना जाना लगभग तय माना जा रहा है।

बिना पूरी कैबिनेट बने विधानसभा सत्र बुलाने की नई परिपाटी

अब तक मंत्रिमंडल की शपथ के बाद ही दिसंबर अंत या जनवरी में विधानसभा सत्र बुलाया जाता रहा है। इस बार मुख्यमंत्री और दो उप मुख्यमंत्रियों के अलावा कैबिनेट में कोई नहीं है। बिना पूरी कैबिनेट के विधानसभा का विशेष सत्र बुलाए जाने पर कई तरह की चर्चा शुरू हो गई है। अब तक नई सरकार बनने के बाद पहले मंत्रियों की शपथ होती है, इसके बाद ही विधानसभा का पहला सत्र बुलाया जाता है। इस बार यह नई परिपाटी शुरू की गई है।

दो दिन ही सदन चलेगा, राज्यपाल का अभिभाषण नहीं होगा नई विधानसभा के पहले सत्र में राज्यपाल का अभिभाषण होता है, इस बार केवल दो दिन ही सदन चलेगा, इसलिए केवल शपथ का ही काम होगा। विधानसभा के नियमों के मुताबिक नई सरकार के गठन के बाद होने वाले पहले सत्र में विधायकों की शपथ और स्पीकर के चुनाव के बाद तीसरे दिन राज्यपाल का अभिभाषण होता है। इस बार दो दिन ही सदन की बैठक है, इसलिए राज्यपाल का अभिभाषण भी नहीं होगा। अब जब सदन की अगली बैठक बुलाई जाएगी, तब पहले दिन राज्यपाल का अभिभाषण होगा। जनवरी में फिर सदन की बैठक बुलाए जाने के आसार हैं।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA