बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़ बोले- मुझे जयचंदों ने हरायाः वे मुंह में राम बगल में छुरी लेकर सत्ता के नजदीक आने की कोशिश

PALI SIROHI ONLINE

चूरू/ जयपुर-पूर्व नेता प्रतिपक्ष और बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजेंद्र राठौड़ ने खुद की हार को लेकर भितरघात को जिम्मेदार ठहराया है। राठौड़ ने इशारों में भितरघात करने वाले बीजेपी नेताओं पर निशाना साधा। राठौड़ ने कहा- इस बार चुनाव में हार हुई है। जनता का फैसला स्वीकार्य है, लेकिन बहुत-से जयचंदों ने भी अपनी भूमिका निभाई। मुंह में राम बगल में छुरी लेकर भी कई लोग सत्ता के नजदीक आने की कोशिश कर रहे हैं। उनके चेहरे से नकाब खींचने के लिए कार्यकर्ता आतुर हैं। राजेंद्र राठौड़ चूरू के सादुलपुर में मीडिया से बात कर रहे थे।

हार के कारणों पर राठौड़ ने कहा- मेरी खुद की कमजोरी हार का कारण रही। मैं ऐसी धरती पर चला गया, जिस धरती पर वोट की फसल काटनी थी। उसको समतल करने से पहले ही मैंने बुवाई कर दी। जिस प्रकार की खुदाई का काम होना चाहिए था, वह नहीं हुआ। कार्यकर्ता ने पूरी मेहनत की। हार की पूरी जिम्मेदारी मेरी खुद की है।

भजनलाल की सरकार ऐसे भजन करेगी…
राठौड़ ने कहा- भजनलाल की सरकार ऐसे भजन करेगी कि उनकी वाणी से कल्याण ही कल्याण निकलेगा। अब जल्द ही मंत्रिमंडल शपथ ले लेगा। जिस लूट और झूठ की सरकार की हमने विदाई की है, उसकी लूट को भी बाहर निकालेंगे। सच्चाई के रास्ते पर चलकर जनता के कल्याण के लिए काम करेंगे। संकल्प पत्र में जो वादे किए हैं, उन्हें पूरा करने के लिए सरकार अपना रोडमैप बनाएगी।

लोकसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर बोले- पार्टी का आदेश माना जाएगा
राठौड़ ने कहा- आने वाले लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में तीसरी बार सरकार बनाने के लिए कार्यकर्ता काम करेंगे। तीसरी बार मोदी सरकार बने, इस संकल्प के साथ वापस चुनाव मैदान में उतरेंगे।

लोकसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर राठौड़ ने कहा- मैं जमीनी कार्यकर्ताओं हूं, जो पार्टी का आदेश होगा, वह मान्य होगा। मंत्रिमंडल में खुद की भूमिका पर कहा- एक हारे हुए व्यक्ति की मंत्रिमंडल में क्या भूमिका होगी? मंत्रिमंडल कैसा होगा, इस पर मुझे टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है, लेकिन इसका फैसला जल्द होगा और संतुलित होगा

हे जयचंदो, हे विभीषणो… वहीं रहना, हमारी पवित्र पार्टी और लोगों के पास मत आना

वहीं, चूरू के तारानगर में सभा के दौरान राजेंद्र राठौड़ ने कहा- किसी कारण से कोई कमी रह गई होगी, लेकिन हे जयचंदो, हे विभीषणो… इतनी मदद कर देना। आपने जो कुछ किया, वो वहीं रहना। हमारी इस पवित्र पार्टी और लोगों के पास आने की कोशिश मत करना।

राठौड़ के बयान के सियासी मायने, बीजेपी में विरोधी धड़े को जयचंद बताया राजेंद्र राठौड़ इस बार तारानगर सीट से विधानसभा का चुनाव हार गए थे। कांग्रेस विधायक नरेंद्र बुडानिया के सामने चुनाव हारने के बाद राठौड़ ने पार्टी में विरोधी धड़े को जिम्मेदार ठहराया है। राठौड़ ने विरोधी धड़े को जयचंद कहकर नई सियासी कलह के संकेत दे दिए हैं। इसे चूरू बीजेपी में नई कलह से जोड़कर देखा जा रहा है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA