10वीं कक्षा का सामाजिक विज्ञान का पेपर आउट!: कुल प्रश्नों की संख्या लिखी 13, हैं 21; कल होनी है परीक्षा, परीक्षा केंद्रों पर पेपर का लिफाफा खुलने पर स्तिथि होगी साफ

PALI SIROHI ONLINE

सादुलपुर-सोशल मीडिया पर एक क्वेश्चन पेपर (प्रश्न पत्र) वायरल हो रहा है। पेपर पर लिखा है- ‘अर्द्धवार्षिक परीक्षा- 2023-24, कक्षा-10, विषयः सामाजिक विज्ञान’।

दरअसल, 11 दिसंबर से माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, राजस्थान की 10वीं कक्षा की अर्द्धवार्षिक परीक्षा शुरू हुई है। अब तक अंग्रेजी, हिंदी, विज्ञान और गणित विषय की परीक्षा हो चुकी है। सामाजिक विज्ञान विषय की परीक्षा 18 दिसंबर (सोमवार) को होगी।

वायरल फ़ोटो
वायरल फ़ोटो

जो पेपर वायरल हुआ है, वह दो पेज का है। पेपर पर कुल प्रश्नों की संख्या 13 लिखी गई है, लेकिन दोनों पेज पर कुल 21 प्रश्न हैं। पहले पेज पर केवल बहुविकल्पीय प्रश्नों का सवाल है। दूसरे पेज पर अन्य 20 प्रश्न हैं। मामला चूरू के सादुलपुर का है।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अभी पेपर को लीक नहीं मान सकते हैं। पेपर खुलने के बाद ही इसका पता चल पाएगा।

डीईओ ने जांच के लिए टीम का गठन किया

सूचना के बाद चूरू डीईओ माध्यमिक निसार अहमद खान सहित समान परीक्षा योजना के संयोजक, उप संयोजक रविवार को ही ऑफिस पहुंचे। इस बीच डीईओ ने उड़नदस्तों के अलावा जांच के लिए टीम का गठन किया है। जो अलग-अलग सेंटर पर जांच करेंगे और प्रश्न पत्रों के बंडल देखेंगे।

डीईओ माध्यमिक निसार खान का कहना है- जो पेपर वायरल हो रहा है। उसे अभी आउट नहीं मान सकते हैं। क्योंकि, यह पेपर 18 दिसंबर को होना है। सोमवार को वायरल पेपर और खोले जाने वाले सामाजिक विज्ञान के पेपर के प्रश्नों का मिलान करेंगे। इसके बाद आगे निर्णय लिया जाएगा। हो सकता है, यह फेक हो। इसलिए विभाग अभी इस विषय की परीक्षा रद्द करने की जल्दबाजी में नहीं है।

लिफाफा खुलने के बाद पता चलेगा लीक हुआ या नहीं चीफ ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर, (सीबीईओ) राजगढ़ बबलेश शर्मा ने बताया कि अभी पेपर को लीक नहीं मान सकते। कल पेपर खुलने के बाद ही पता चल पाएगा कि पेपर लीक हुआ है या नहीं।

इस पेपर में कई गलतियां, पूर्णांक भी सही नहीं लुटाना उच्च प्राथमिक स्कूल के प्रधानाचार्य बलवंत पूनिया ने कहा- अर्द्धवार्षिक परीक्षा के पेपर जिला समान परीक्षा योजना में जिला स्तर पर बनते हैं। इस प्रश्न पत्र को ध्यान से देखने पर पता चलता है कि इसमें फोंट साइज सामान्य से कम है। दो लाइन के बीच गैप भी कम है। दूसरे पेज पर दूसरे प्रश्न में रिक्त स्थान के लिए जो जगह छोड़ी गई है, वो भी कम है। पहले पेज पर प्रश्नों की संख्या 13 लिखी है, जबकि इसमें कुल 21 प्रश्न हैं। पेपर कुल 70 नंबर का है, लेकिन सभी प्रश्नों के नंबर जोड़ने पर 67 आ रहे हैं। सभी पेपर अलग खंड में विभाजित होते हैं, लेकिन इसमें ऐसा नहीं है। मेरी नजर में यह पेपर फेक है।

इस तरह रखा जाता है पेपर

मोडावासी स्कूल के शिक्षक मनोज पूनिया ने बताया कि पेपर स्कूल की अलमारी में सील होता है। जिसे प्रिंसिपल और परीक्षा प्रभारी सील करवाते हैं। सील अलमारी परीक्षा शुरू होने के आधा घंटे पहले खुलती है। परीक्षा प्रभारी और प्रिंसिपल की मौजूदगी में लिफाफे को खोला जाता है और बच्चों में बांटा जाता है। उन्होंने कहा कि पेपर पहले लीक होना संभव नहीं है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA