राजस्थान में bjp के लिए 48 घण्टे महत्वपूर्ण , cm कौन होगा होगी तस्वीर साफ

PALI SIROHI ONLINE

जयपुर-राजस्थान में सीएम के नाम की घोषणा के कयासों के बीच दिल्ली में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने उनके आवास पर रात करीब 8:10 बजे पहुंचीं। साथ में, बेटे दुष्यंत सिंह भी थे। रात करीब साढ़े नौ बजे राजे नड्डा के आवास से निकलीं। राजस्थान में CM फेस व अन्य तमाम पहलुओं पर चर्चा हुई। उधर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी भी दिल्ली बुलाया गया है। वो देर रात जयपुर से दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

विधायक कंवरलाल मीणा बोले- हम सहमति से होटल में रुके, बाड़ेबंदी की बात गलत
बीजेपी सांसद दुष्यंत सिंह के कहने पर बाड़ेबंदी करने के ललित मीणा के पिता हेमराज मीणा के आरोप को बीजेपी विधायक कंवरलाल मीणा ने गलत बताया है। कंवरलाल मीणा ने कहा- किशनगंज विधायक ललित मीणा के पिता हेमराज मीणा ने जो आरोप लगाए हैं, वह सरासर गलत हैं। हम सब झालावाड़-बारां लोकसभा क्षेत्र के विधायक हैं। जीतने के बाद विधायक ललित मीणा सहित आरएसएस व भाजपा कार्यालय बारां गए। सुबह 6 बजे अपने-अपने घरों से हम सब गाड़ियों से जयपुर आए। आपसी सहमति से एक साथ होटल में रुके। बाड़ेबंदी जैसी बात कहना शरारतपूर्ण है। गलत है

अपने विधायकों की कौन बाड़ेबंदी करेगा कंवरलाल ने कहा- क्या किसी भी विधायक को उसकी मर्जी के बिना जबरन ले जाया जा सकता है? असम्भव। और झालावाड़-बारां तो दुष्यन्त सिंह का अपना खुद का लोकसभा क्षेत्र है। अपने लोकसभा क्षेत्र के विधायकों की कौन बाड़ेबंदी करेगा।

रात ढाई बजे 30-35 लोग हमारे होटल में आए और विधायक ललित मीणा को ले जाने लगे कंवरलाल ने कहा- यह बात 5 दिसम्बर की रात ढाई बजे की है। उस रोज पहले तो 30-35 लोग हमारे होटल में आए और विधायक ललित मीणा को ले जाने लगे। परिचित नहीं होने की वजह से हमने उनके साथ ललित को नहीं भेजा। बाद में जब उनके पिता हेमराज मीणा आए तो उनके साथ हमने ललित को भेज दिया। सांसद दुष्यंत सिंह उस दिन लोकसभा में थे। उनकी लोकसभा में उपस्थिति देखी जा सकती है। तब से ही वे दिल्ली में हैं। मोबाइल पर उनकी लोकेशन भी देखी जा सकती है। इस अवधि में मेरी सांसद महोदय से कोई बात नहीं हुई। विधायक को रात में ढाई बजे आकर ले जाना और दुष्यंत सिंह पर आरोप लगाना एक षड्यंत्र है।

राजे के बेटे और सांसद दुष्यंत सिंह पर बड़ा आरोप लगाया इससे पहले, विधायकों को होटल में रुकवाने के मामले में किशनगंज विधायक ललित मीणा के पिता हेमराज मीणा ने वसुंधरा राजे के बेटे और सांसद दुष्यंत सिंह पर बड़ा आरोप लगाया है। पूर्व विधायक हेमराज ने कहा कि मेरे बेटे और झालावाड़-बारां के विधायकों को सांसद दुष्यंत जयपुर लेकर आए थे। शाम को जब ललित घर नहीं लौटा तो मैंने उससे बात की। उसने कहा कि में सीकर रोड पर एक रिसोर्ट में हूं। ये लोग मुझे यहां से नहीं आने दे रहे हैं।

दूसरी ओर, बीजेपी जल्द पर्यवेक्षकों की घोषणा कर सकती है। इनमें एक केंद्रीय मंत्री और एक संगठन पदाधिकारी को शामिल किया जा सकता है।

पूर्व विधायक हेमराज मीणा ने कहा- बेटे को रिसोर्ट में रोके जाने की जानकारी मिलते ही मैं भी वहां पहुंच गया। मैंने इस बारे में प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी और संगठन महामंत्री चंद्रशेखर को बताया। उसके बाद सीपी जोशी भी मौके पर पहुंचे, लेकिन वहां पर अंता विधायक कंवरलाल मीणा ने हमें ललित को लाने से रोका। उसने कहा कि सांसद दुष्यंत से बात करो और उसके बाद ही इसे लेकर जाओ। मैंने दुष्यंत सिंह को फोन लगाया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। उन्होंने हमसे जबरदस्ती की। उसके बाद हम ललित को लेकर आ गए।

सूत्रों के अनुसार मंगलवार देर रात सीकर रोड पर एक होटल में भाजपा के 5-6 विधायक ठहरे थे। इनमें किशनगंज विधायक ललित मीणा भी थे। साथी विधायकों की बातें और हाव-भाव देख ललित को शक हुआ कि पार्टी के किसी बड़े नेता के इशारे पर लॉबिंग हो रही है, क्योंकि वे कोटपूतली से आगे किसी होटल में जाने की बात कर रहे थे।

ललित ने अपने पूर्व विधायक पिता और पार्टी के कुछ नेताओं से बात की। इसके बाद पिता खुद होटल पहुंचे और बेटे ललित को ले आए। ललित ने प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं को घटनाक्रम की जानकारी दी। सूत्रों के अनुसार इसके बाद विधायकों के मूवमेंट पर नजर बढ़ा दी गई है। वहीं, बुधवार को प्रभारी अरुण सिंह, प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी और संगठन महामंत्री चंद्रशेखर विधायकों से मिलकर चर्चाएं करते रहे।

प्रदेशाध्यक्ष बोले- मुझे मामले की जानकारी नहीं
मामले को लेकर प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने कहा- होटल वगैरह की बात मुझे नहीं पता, लेकिन यह सच है कि ललित मीणा के पिता से मंगलवार शाम मेरी मुलाकात हुई थी। मैं पिछले 24 घंटे में 32 से अधिक विधायकों से मिला था। प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने कहा- मुझे ध्यान नहीं है और यह कोई खास बात नहीं है। यह जरूर कहूंगा कि कार्यकर्ताओं और विधायकों के लिए पार्टी कार्यालय मंदिर की तरह है और यहां आस्था रखी जानी चाहिए।

नड्डा से मिलेंगी वसुंधरा
राजस्थान में नया मुख्यमंत्री कौन? इसे लेकर जयपुर से दिल्ली तक हलचल चल रही है। 3 सांसदों के इस्तीफे के बाद तिजारा से विधायक चुने गए महंत बालकनाथ ने भी इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद संसद में उन्होंने अमित शाह और जेपी नड्डा से मुलाकात की। इस्तीफा देने से पहले उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता ओम माथुर से भी मुलाकात की थी। विधायक बालकनाथ ने इस्तीफा देने के बाद संसद में अमित शाह और नड्डा से मुलाकात की। इस्तीफा देने से पहले उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता ओम माथुर से भी मुलाकात की थी। विधायक बालकनाथ ने इस्तीफा देने के बाद संसद में अमित शाह और जेपी नड्डा से की मुलाकात।

वसुंधरा राजे आज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगी। वे बुधवार रात करीब साढ़े 10 बजे जयपुर एयरपोर्ट से निकली थीं। हालांकि दिल्ली बुलाने के कयासों के बीच वसुंधरा ने एयरपोर्ट पर कहा- मैं बहू से मिलने जा रही हूं।

फेक लिस्ट का बीजेपी ने किया खंडन इधर, राजस्थान में सीएम के नाम को लेकर अब अफवाहों का दौर भी शुरू हो गया। सोशल मीडिया पर लगातार फेक लिस्ट जारी की जा रही है। बुधवार शाम को भी बीजेपी की एक फेक लिस्ट सोशल मीडिया पर शेयर की गई, जिसमें बालकनाथ को सीएम और किरोड़ीलाल मीणा और दीया कुमारी को डिप्टी सीएम बनाने का दावा किया गया।
इसके बाद भाजपा ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से इस लिस्ट को ट्वीट करते हुए फेक बताया।

ये 8 विधायक राजे और सीपी जोशी दोनों से मिले थे इनमें 8 विधायक ऐसे भी थे जो पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी दोनों से मंगलवार को मुलाकात की थी। इनमें जोगाराम पटेल, अर्जुनलाल गर्ग, गुरवीर सिंह, शंकर सिंह रावत, गोपीचंद मीणा, बहादुर सिंह कोली, विजय सिंह चौधरी और मंजू बाघमार थे।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA