काछोली गांव के आजाद सिंह देवड़ा ने टिका में ग्यारह लाख के बदले शगुन के तौर पर 101 रुपया और नारियल लिया

  • देसूरी के समीप ठाकुर जी का गुड़ा में काछोली गांव से आई बारात में मान-सम्मान का प्रतीक मानी जाने वाली टीका प्रथा को लेकर मारवाड़ में बदलाव की लहर जारी है।
  • टीका लेकर नहीं लौटाकर सम्मान हासिल करने वालों में सिरोही जिले के काछोली निवासी आजाद सिंह पुत्र विक्रमसिंह देवड़ा का भी नाम जुड़ गया है।
  • ठाकुर जी का गुड़ा निवासी भारतीय डाक विभाग से रिटायर्ड लक्षमणसिंह कुम्पावत की पोत्री दुर्गा कुँवर पुत्री नरपतसिंह की शादी थी। रस्मों के दौरान लड़की वालों ने थाल में 11 लाख रुपए सजाकर टीके का नेग भेंट किया, लेकिन आजाद सिंह देवड़ा ने हाथ जोड़कर यह कहते हुए थाल लौटा दिया
  • अपनों पर बोझ डाल मान बढ़ाना स्वीकार नहीं। फिर बड़े-बुजुर्गों के आग्रह पर उन्होंने नेग के 101 रुपए व नारियल स्वीकार किए।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA