सोजत रोड रेलवे स्टेशन पर सुविधाओं का अभाव: हर दिन की कमाई 70 हजार से 1 लाख, यात्रियों को छाया तक की व्यवस्था नहीं

PALI SIROHI ONLINE

सोजत-सोजत क्षेत्र के रेलवे स्टेशन सोजत रोड पर कमाई तो रोजाना करीब 1 लाख के करीब है, लेकिन सुविधाओं के नाम पर यात्रियों को छाया भी नसीब नहीं हो रही है। इस स्टेशन पर करीब 10-12 गाड़ी रोजाना आती जाती हैं। जिससे सैकड़ों मुसाफिर रोज सफर करते हैं। इनसे रेलवे को अच्छा रिवेन्यू मिलता है, लेकिन दोनों प्लेटफार्म पर केवल कुछ फुट पर ही टीन शेड लगे हुए हैं। बाकी सभी यात्री धूप में खड़े रहकर गाड़ी का इंतजार करते हैं।

कुर्सियां कब प्लेटफॉर्म पर बंद पड़े पंखे रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को गाड़ी का इंतजार करने के लिए कुर्सियां लगी हुई हैं। कई जगह फाइबर के छायादार शेड हैं, लेकिन उनकी संख्या यात्रियों के मुकाबले बहुत कम है। अधिकतर यात्री धूप में खड़े रहकर ही गाड़ी का इंतजार करते हैं, दो नंबर प्लेटफार्म के पंखे भी बंद मिले जबकि एक नंबर प्लेटफार्म पर उनके चल रहे थे। इसके अलावा स्टेशन पर पीने का पानी है, लेकिन वाटर कूलर नहीं। केवल दो नंबर प्लेटफार्म पर भामाशाह द्वारा बनाई गई एक प्याऊ है, उसमें जरूर ठंडा पानी आता ह

इस दौरान जब यात्रियों से बातचीत की तो उनका कहना था कि अब गर्मी तेज हो रही है और रेलवे को चाहिए कि वह यात्रियों के लिए रेलवे स्टेशन को टीन शेड से ढके पर्याप्त मात्रा में पंखे लगाए जाएं, बैठने के लिए पर्याप्त मात्रा में कुर्सियां हो, यहां पर कोई वेटिंग रूम भी नहीं है। जहां यात्री इंतजार के लिए अपना समय सुविधा पूर्ण गुजार सकें। पीने के पानी के लिए यात्रियों ने वाटर कूलर की बड़ी आवश्यकता बताई।

पटरियां पार कर दूसरे प्लेटफॉर्म पर पहुंच रहे लोग सोजत रोड स्टेशन पर यातायात व्यवस्था ऐसी है कि जोधपुर अहमदाबाद की तरफ से आने वाली गाड़ियां एक नंबर प्लेटफार्म पर आती हैं जबकि ब्यावर अजमेर और जयपुर से आने वाली गाड़ियां दो नंबर पर आती है, लेकिन जब वापस यात्री सोजत रोड रेलवे स्टेशन पर उतरते हैं, तो उन्हें दो नंबर प्लेटफार्म पर उतरना पड़ता है। इसके लिए बकायदा रेलवे ने दो नंबर से एक नंबर पर आने के लिए आरामदायक और छायादार फ्लाईओवर बना रखा है, लेकिन लोग लापरवाही पूर्वक शॉर्टकट का रास्ता अपनाते हुए सीधे ही पटरिया पारकर रेलवे स्टेशन के बाहर जाने के लिए एक नंबर प्लेटफार्म पर पहुंचते हैं। हालांकि आरपीएफ का जाब्ता में तैनात था फिर भी किसी ने यात्रियों को टोका टोकी नहीं की, केवल कुछ यात्री ही फ्लाई ओवर के जरिए एक नंबर प्लेटफार्म पर पहुंचे। ऐसी लापरवाही कभी बड़े हादसे के रूप में सामने आ सकती है।

सफाई व्यवस्था मिली अच्छी

इतनी समस्याओं के बावजूद सोजत रोड रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म और यात्रियों के बैठने की जगह पर साफ सफाई व्यवस्था काफी अच्छी है। पब्लिक टॉयलेट की स्थिति भी क-ठाक है, फिर भी यात्रियों के हितों को ध्यान में रखते हुए ठीक- यहां सुविधाएं बढ़ाने की बड़ी जरूरत है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA