महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री शिंदे पहुंचे नीलकंठ महादेव मंदिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में

PALI SIROHI ONLINE

भीनमाल-जालोर के भीनमाल में नीलकंठ महादेव प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत बुधवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने पहुंचकर कार्यक्रम में शिरकत की। सीएम हेलिकॉप्टर से उदयपुर से करीब 1 बजे भीनमाल हेलीपैड पर पहुंचे। जहां पर वारह इंफ्रा के एमडी प्रेम सिंह राव ने उनका स्वागत किया। इसके पश्चात खारी रोड, माघ चौक, पीपली चौक होते हुए वारह श्याम मंदिर पहुंचे। यहां पर मंदिर के पुजारियों द्वारा पूजा अर्चना के बाद मंदिर की ऐतिहासिक जानकारी दी गई। इसके बाद मुख्य बाजार होते हुए वह नीलकंठ महादेव मंदिर में पहुंचे जहां पर करीबन आधे घंटे तक विशेष पूजा-अर्चना की। इस दौरान यज्ञशाला में पहुंचकर भगवान को भोग लगाया।

राजस्थान और महाराष्ट्र का प्राचीन संबंध है: शिंदे मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे भी प्राचीन शिवजी के दर्शन प्राप्त हुए हैं। मैं यहां जब पहुंचा तो लोग दोनों तरफ पुष्प वर्षा कर रहे थे, ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं महाराष्ट्र में ही जा रहा हूं। ऐसे देखा जाए तो भगवान नीलकंठ महादेव का मंदिर प्राचीन धरोहर है, इसलिए तो इस भव्य मंदिर का निर्माण हुआ है। इस तरह से किए गए धार्मिक कार्य से लोग प्रेरणा लेंगे। राजस्थान और महाराष्ट्र का प्राचीन संबंध हैं। महाराष्ट्र के छत्रपति शिवाजी महाराज और महाराणा प्रताप के दोनों के आराध्य देव भगवान शिव थे। इन दोनों महापुरुष की वजह से भारत भूमि पर कोई दुश्मन देख भी नहीं सकता था। मंदिर और ऐसे धर्म स्थल सिर्फ मंदिर नही है बल्कि हमारे ऊर्जा स्थल है।लाखों की संख्या में रहते हैं मारवाड़ी सीएम ने कहा कि बहुत सारे राजस्थानी मारवाड़ी महाराष्ट्र में रहकर व्यापार कर रहे हैं। सभी मिलकर देश में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में श्रीराम मंदिर अयोध्या में बना रहे हैं। मारवाड़ी समाज के लोग मुम्बई में व्यापार करते हैं, उनकी सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। इस तरह से मारवाड़ी भाईचारे के साथ रहते हैं। कार्यक्रम के बाद महाराष्ट्र के सीएम करीब 2 बजकर 50 मिनट पर रवाना हो गए

ये रहे मौजूद इस अवसर पर अभय दास महाराज, कथावाचक मुरलीधर महाराज, मुफतसिह राव, विजय सिंह राव, नरपत सिंह राव, नरिंगागा राम चौधरी, नगर अध्यक्ष महेंद्र सोलंकी, गुलाब सिंह राव, जगदेव सिंह, खुशवंत सिंह, जय सिंह, शेखर व्यास, श्याम खेतावत सहित कई लोग उपस्थित रहे

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA