मुख्यमंत्री गहलोत कांग्रेस नेताओ व आमजनों से हुए रूबरू सुनी उनकी समस्याएं, पेपर लीक मामले को लेकर मीडिया से की बातचीत

PALI SIROHI ONLINE

पाली-प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गुरुवार को सर्किट

हाऊस में कांग्रेस नेताओं और आमजन से रूबरू हुए उनकी समस्याएं सुनी। इस दौरान मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री ने पेपर लीक मामले में कहा कि पेपर लीक एक बीमार जैसी हो गई लेकिन इसके डर से हम युवाओं को नौकरियां देने के लिए परीक्षा करवाना नहीं छोड़ेंगे। गुजरात जाकर देखिए वहां नौकरियां नहीं लगती। दूसरी तरफ राजस्थान देश का संभवत पहला प्रदेश होगा जहां युवाओं को सबसे ज्यादा नौकरियां दी जा रही है। उन्होंने कहा कि 1.35 लाख युवाओं को नौकरियां दी जा चुकी है 1.25 लाख युवाओं को नौकरियां देने के लिए साक्षात्कार और एग्जाम की कार्रवाई चल रही है और 1 लाख नौकरियों को उन्होंने घोषणा कर रखी है। राजस्थान में करीब

साढ़े तीन लाख युवाओं को नौकरियां दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि रीट परीक्षा में 25 लाख के करीब युवा परीक्षा देने पहुंचे। परीक्षार्थियों के लिए राज्य की कांग्रेस सरकार ने आने-जाने के लिए निशुल्क व्यवस्था की रहने, खाने-पीने तक की व्यवस्था की। दूसरे राज्यों से आए लोगों ने भी सरकार के इस कदम की सराहना की लेकिन हुआ किया जैसे ही पेपर लीक हुआ सरकार के अच्छे काम पीछे चले गए और पेपर लीक मुद्दा बन गया। ऐसा नहीं होना चाहिए। पेपर लीक मामले में SOG ने अच्छा काम किया और सभी दोषियों को पकड़ा है यह सबसे बड़ी बात है। किसी को बक्सा नहीं गया है। इसको लेकर प्रदेश की कांग्रेस सरकार को श्रेय देना चाहिए।

हम भ्रष्टाचारियों को पकड़ रहे है इसलिए पकड़े जा रहे है मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा विपक्ष मुददा बना रहा है कि भ्रष्ट्राचार के मामले बढ़ गए है। मैं उनको बताना चाहता हूँ कि हम भ्रष्ट्राचारियों को पकड़ रहे है इसलिए एसीबी की कार्रवाईयां बढ़ी है। हम राजस्थान को भ्रष्ट्राचार मुक्त करना चाहते है। देश में दूसरे कई राज्य तो ऐसे है जहां एसीबी कार्रवाई तक नहीं करती। हमने तो कलेक्टर-एसपी को जेल में डाला है। भ्रष्ट्राचार के मामले में पकड़ जाने वालों की पहचान उजागर नहीं करने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कई मामले ऐसे होते है जिसमें अधिकारी झूठा फंसाया जाता है। इसलिए उसे बदनामी का सामना न करना पड़े। इसलिए ऐसा किया जा रहा है कि जब तक यह साबित न हो जाए कि उसने भ्रष्ट्राचार किया है उसकी पहचान गुप्त रखी जाए। यह सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों का फैसला है।

सुप्रीम कोर्ट ने फैसला लेट दिया इसलिए बजरी का अवैध

खनन बढ़ा

बजरी के अवैध खनन से आमजन को हो रही परेशानी को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने बजरी पर रोक हटाने का फैसला करीब 4 साल बाद दिया। इस दौरान जमकर बजरी का अवैध खनन हुआ। जिसका नुकसान आमजन को उठाना पड़ा। 5 हजार रुपए भाव की बजरी उन्हें 20-25 हजार में खरीदनी पड़ी क्योंकि मकान बनाना उनकी मजबूरी थी इसके लिए उन्हें दुख है।

अपराध बढ़े नहीं हमनें FIR अनिवार्य कर दी राजस्थान में बढ़ रहे अपराधों को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अपराध बढ़े नहीं है अपराधिक मामले अब सामने आने लग गए है। पहले थानों में जाने वाले डॉक्टर, उद्यमी आदि से ढंग से बातचीत तक पुलिसकर्मी नहीं करते थे उन्हें बेइज्जत कर निकाला जाता था। अब हमनें थानों में स्वागत कक्ष बनवा दिए। FIR अनिवार्य कर दी। जिससे की आमजन को परेशान न होना पड़े। FIR अनिवार्य करने से अपराधिक मामले सामने आ रहे हैं अपराध बढ़े नहीं है।

पाली बनेगा औद्योगिक हब पाली जिले के रोहट में जंबूरी आयोजन को लेकर उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि पाली में जंबूरी का आयोजन हो रहा है। इसका शानदार उद्घाटन प्रोग्राम भी हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि फ्रेट कॉरिडोर पाली जिले के रोहट क्षेत्र से होकर भी गुजरेगा। ऐसे में आने वाले समय में पाली औद्योगिक हब बनकर उभरेगा।

बजट की कोई कमी नहीं है

बजट को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने तो प्रदेश के सभी विधायकों को कह रखा है जो चाहिए मांग लो वे मांगते -मांगते थक जाएंगे लेकिन सरकार उन्हें देते-देते नहीं थकेगी।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA