रीट परीक्षा मामला, 30 लाख ठगी का चार लोगों पर आरोप, पुलिस जांच में लगी

PALI SIROHI ONLINE

जालोर-जालोर में भाई-बहन को राजस्थान लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास कराने करने के नाम पर 30 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। सीनियर डिप्टी सेक्रेटरी सत्यनारायण शर्मा सहित 4 लोगों के पर धोखाधड़ी का आरोप लगा है। परीक्षा के एक साल बाद इस्तगासे के जरिए एक दिसम्बर को जालोर के सरवाना पुलिस थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। पीड़ित ने आरोप लगाया है कि दोनों को पास कराने के लिए 15-15 लाख रुपए दिए गए और ओएमआर शीट भी खाली छोड़ी। इसके बाद रीट में चयन नहीं हुआ। भाई-बहन ने जब आरोपियों से वापस रुपए मांगे तो एसओजी का डर दिखाकर धमकी दी।

जालोर जिले की सांचौर तहसील के बावरला गांव निवासी सुखराम बिश्नोई ने रिपोर्ट में बताया कि उसके भाई-बहन रमेश और संगीता को 26 सितंबर 2021 को आयोजित रीट परीक्षा में पास कराने के लिए सत्यनारायण शर्मा, अनुराग, रोशन और ताराचंद को 30 लाख रुपए दिए थे। रकम अनुराग को सौंपी थी। आरोपियों ने रीट परीक्षा में ओएमआर शीट खाली छोड़ने के लिए कहा था । रमेश और संगीता ने ओएमआर सीट खाली छोड़ी, लेकिन परीक्षा परिणाम आने पर दोनों पास नहीं हुए । सुखराम का कहना है कि रुपए मांगने पर आरोपी एसओजी का डर दिखाते रहे। बाद में अनुराग सहित अन्य आरोपियों के कई और लोगों से भी धोखाधड़ी करने का पता चला तो अब जाकर मुकदमा दर्ज कराया। सरवाना थानाधिकारी किसनाराम ने बताया कि आरपीएससी के सीनियर डिप्टी सेक्रेटरी सहित चार पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल मामले में जांच की जा रही है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA