गांव का लाल बना असिस्टेंट प्रोफेसर: कठिन परिस्थितियों में नरेश ने हासिल की सफलता

PALI SIROHI ONLINE

भीनमाल-भीनमाल के गांव बागावास के सामान्य किसान परिवार पृष्टभूमि के नरेश मेहला ने हाल में राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती 2021 में भूगोल विषय से प्रदेश में 8वीं रैंक के साथ सफलता हासिल की। मेहला के चयन होने से उनके गांव बागावास में खुशी का माहौल है। मेहला ने अपनी प्राथमिक शिक्षा अपनी भुआ के पास रहकर ली। साल 2003 में बचपन में ही उसके पिता का निधन हो गया था। पिता घर में 6 बहिनों के एकमात्र भाई थे, जिनके देहांत हो जाने पर वृद्ध दादा-दादी एवं समस्त परिवार के पालन-पोषण की जिम्मेदारी मां पर आ गई।

इस दौरान मेहला ने उच्च प्राथमिक शिक्षा अपने गांव बागावास, माध्यमिक शिक्षा लुणावास तथा उच्च माध्यमिक शिक्षा भीनमाल के सरकारी विद्यालय से प्राप्त की। मां ने नरेगा में मजदूरी तथा खेती कार्य करते हुए अपने बेटे व बेटियों को पढ़ाया। उच्च अध्ययन के लिए परिवार की आर्थिक स्थित ठीक नहीं होने के कारण इन्होंने स्नातक की शिक्षा के साथ-साथ ई-मित्र व आधार कार्ड सेंटर पर काम भी किया।

शुरू से ही रहे मेधावी

2017 में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी शुरू की। 2019 में एम.ए. के साथ-साथ नेट- जेआरएफ की परीक्षा में ऑल इंडिया में 99.70 पर्सेटाइल के साथ पास की।

2018 में RPSC द्वारा आयोजित स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा में प्रदेश में 22वें स्थान के साथ चयन हुआ। वर्तमान में रा.उ.मा.वि. जोडवाड़ा (जसवंतपुरा) में कार्यरत हैं। फिर भी पढ़ाई को जारी रखते हुए असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती 2021 में भूगोल विषय से पूरे प्रदेश में 8वीं रैंक के साथ चयन हुआ। इसी दौरान मेहला ने दो बार यूजीसी नेट- जेआरएफ भी क्वालीफाई किया।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA