जीवन जीने की कला सिखाते हैं गुरू तेग बहादुर सिंह :- जयदेव सिंह राणावत

PALI SIROHI ONLINE

नटवर लाल मेवाड़ा

जीवन जीने की कला सिखाते हैं गुरू तेग बहादुर सिंह :- जयदेव सिंह राणावत
साण्डेरावः- मारवाड़-गोड़वाड जन कल्याण सेवा समिति के अध्यक्ष जयदेव सिंह राणावत ने कहा कि जीवन जीने की कला सिखाते हैं गुरु तेग बहादुर।राणावत ने कहा कि गुरू तेग बहादुर जी उस समय धार्मिक स्वतंत्रता के समर्थक थे जब लोगों का जबरन धर्म परिवर्तन किया जा रहा था।

उन्हें मुगल सम्राट औरंगजेब के आदेश पर दिल्ली के मशहूर गुरूद्वारा शीशगंज साहिब में वर्ष 1975 में उनकी हत्या कर दी थी। राणावत गुरुवार को फोरलेन हाइवे सिंदरू पर स्थित गुरूद्वारे में सिखों के दस गुरूओं में से नौवें गुरु तेग बहादुर सिंह जी के शहादत दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित श्रद्धालुओं को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान बाबुभाई देवासी, शौतान सिंह राणावत सिंदरू, मंगेश सिंह चंपावत,किशोर नाहर,पाबूसिंह राठौड़,ललित दर्जी,पन्नेसिंह,फतेह सिंह केनपुरा सहित आस-पास गांवों के ग्रामीण व हाइवे से गुजरते वाहनों के चालक उपस्थित थे।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA