सांवलाजी मंदिर में तीसरी बार चोरी की वारदात घटित हुई, ग्रामवासीयों में आक्रोश

PALI SIROHI ONLINE

पिण्डवाड़ा ।समीपवर्ती ग्राम नांदिया में स्थित प्राचीन मंदिर से कल रात्रि में अज्ञात चोरों ने दो पंच धातुओं की मूर्तिमा चुरा कर ले गये। चोरी की वारदात घटित होने पर जनता में भी आक्रोश व्याप्त है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सांवलाजी मंदिर के पुजारी नरेश कुमार पुत्र विनोद कुमार रावल निवासी नांदिया रोजमर्रा की तरह सुबह करीब 5 बजे मंदिर में पुजा-पाठ करने गया, तो पाया कि मंदिर के दोनो दरवाजे व चाली खुली है।

तथा मंदिर के दोनों दरवाजे उठे मिलें। तब पुजारी ने सरपंच विजय सिंह चौहान सहित अन्य ग्रामीणों को मंदिर में चोरी होने की सूचना दी। मंदिर में चोरी सूचना गांव में आग की तरह फैल गई। और मंदिर परिसर में ग्रामीणों की भीड लग गई। जिसको लेकर सरपंच चौहान ने चोरी की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर डिप्टी जेठू सिंह करनोत मय पुलिस टीम मौके पर पहुंच कर निरीक्षण किया। पुजारी ने बताया कि मंदिर में भगवान का मुकट व गोपालजी एवं राधा कृष्ण की पंचधातु से निर्मित मूर्तियां चुराकर ले गये। चोरी की वारदात का लेकर ग्रामीणों में भारी आक्रोश व्याप्त है। जबकि इससे पूर्व दो बार चोरीयां हो चुकी है।

● सावलाजी की मूर्ति को किया था खंडित –

नांदिया के सावलाजी मंदिर में वर्ष 2019 में भी अज्ञात चोरो ने मंदिर में एक घण्टे तक तोडफ़ोड़ की थी। इससे सावलाजी की प्रतिमा का मुंह, हाथ, पैर व चक्र एवं गुरुड़ भगवान की प्रतिमा खण्डित हो गई। पास में मंदिर से कृष्ण मूर्ति चुराकर ले गए थे। लेकिन कल रात्रि में फिर से चोरी की वारदात घटित हुई। पूर्व चोरी को लेकर न तो पुलिस ने सबक लिया और न ही ग्रामवासीयों ने।

अतिसंवेदनशील है मामला –

पूर्व में पुलिस प्रशासन ने मंदिर के चोरी के मामलों को अतिसंवेदनशील मानते हुए एफ.एस.एल. टीम बुलाकर मौके से निशान जुटाये थे। जबकि जनप्रतिनिधियों व तत्कालीन एसडीएम राजलक्ष्मी गहलोत ने भी निरीक्षण कर आवश्यक कदम उठाने के लिए प्रशासन को निर्देश दिये थे, लेकिन इस बार चोरी को गंभीर नहीं माना है। इससे ग्रामीणों में रोष है।महादेव मंदिर के टुट चुके है ताले सांवलाजी मंदिर प्रांगण में स्थित शिव मंदिर के भी अज्ञात चारो ताले तोड पर चोरी कर चुके है, जबकि मंदिर में तीसरी बार चोरी की वारदात घटित हुई है। तथा जैन मंदिर के ताले तोडकर मूर्ति से आंखे व मूकट ले गये थें। लेकिन मंदिर ट्रस्ट व प्रशासन द्वारा गंभीरता से नहीं लेने के कारण भक्तजनों की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही है तो आमजन में भय व्याप्त है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA