प्यार और यार, दोनों बने जान के बैरी

PALI SIROHI ONLINE

केकड़ी.

अजमेर जिले के नायकी ग्राम में एक युवक का प्यार और यार दोनों ही दगाबाज निकले। प्यार और यार के गठजोड़ से मिले जख्म ने उसकी जान ले ली। बचपन के दोस्त और पत्नी के बीच के अवैध संबंध उसकी हत्या के कारण बन गए। उसके बाल सखा ने ही उसका बेरहमी से कत्ल कर दिया।

अब दोनों ही कानून के शिकंजे में हैं। तहकीकात में जुटी पुलिस ने मृतक के दोस्त को गिरफ्तार कर पुलिस रिमांड पर लिया। उससे पूछताछ में हुए अवैध संबंधों के खुलासे के बाद मृतक युवक की पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। न्यायालय के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया।

दरअसल, समीपवर्ती ग्राम नायकी में गत दिनों हुई युवक की हत्या के पुलिस जांच में अवैध संबंधों के चलते होने का खुलासा हुआ है। शहर थाना पुलिस ने मामले में संलिप्त मृतक सत्यनारायण धाकड़ की पत्नी रसीला को गिरफ्तार किया है।

थानाधिकारी सुधीर कुमार उपाध्याय ने बताया कि गत

बुधवार को सत्यनारायण का खून से सना शव ग्राम नायकी

के पास खेतों में पड़ा मिला था। इसके बाद पुलिस ने मामले

का खुलासा करते हुए आरोपी महेन्द्र जांगिड़ निवासी घारेड़ा

पुलिस थाना टोडारायसिंह जिला टोंक को गिरफ्तार किया।

उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे तीन दिन के

रिमाण्ड पर सौंपा गया।

रिमाण्ड के दौरान पुलिस पूछताछ में महेंद्र ने बताया कि मृतक की पत्नी रसीला पति सत्यनारायण को नापसंद करती थी। वह किसी तरह उससे रिश्ता खत्म करना चाहती थी, हालांकि पारिवारिक कारणों से वह इसमें कामयाब नहीं हो पा रही थी। दोनों का विवाह आटा साटा प्रथा के तहत हुआ था।

इसके चलते यदि वह अपने पति को छोड़ देती तो उसके भाई के वैवाहिक संबंध भी खराब हो जाते। इसके चलते उसने सत्यनारायण के बचपन के दोस्त महेन्द्र से इस मामले में मदद मांगकर किसी भी तरह सत्यनारायण को उसे छोड़ने के लिए मनाने की बात कही। इस पर महेन्द्र ने रसीला को सत्यनारायण से बात कर उसे राजी करने का भरोसा दिलाया।

इसी दौरान महेन्द्र व रसीला के बीच नजदीकियां बढ़ गईं। इसके चलते दोनों ने किसी तरह सत्यनारायण को रास्ते से हटाने का फैसला कर लिया। इसी सोच के साथ महेन्द्र उसे कुछ समय पूर्व काम दिलाने के बहाने भीलवाड़ा भी ले गया और वहां उसकी हत्या की साजिश रची, लेकिन सत्यनारायण के परिजन ने उसे वापस गांव बुला लिया।

ऐसे में महेन्द्र अपने मनसूबों में कामयाब नहीं हो सका। इसके बाद सत्यनारायण केकड़ी में कमरा किराए पर लेकर यहां पढ़ाई करने लगा। महेन्द्र ने फिर से उसकी हत्या की साजिश रचनी शुरू कर दी। इसी तके तहत वह गत 28 जून को केकड़ी पहुंचा।

यहां उसने बस स्टैंड इलाके में एक दुकानदार के फोन से सत्यनारायण को फोन कर बुलाया। उसे मोटरसाइकिल पर बिठाकर ग्राम नायकी के खेतों की तरफ सुनसान इलाके में ले गया, जहां बात करते-करते उसने चाकू से उस पर हमला कर दिया और पत्थरों से कुचलकर निर्मम हत्या कर दी।

उपाध्याय ने बताया कि पुलिस ने रसीला को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। वहीं पुलिस रिमांड पर चल रहे महेन्द्र से गहनता से पूछताछ कर अन्य साक्ष्य भी जुटाने के प्रयास कर से रही है।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA