जेल में कैदी के साथ मारपीट कर हाथ तोड़ा: जेल से बाहर आया तो जेलर और प्रहरी पर लगाया आरोप

PALI SIROHI ONLINE

उदयपुर।उदयपुर की कोटड़ा जेल में एक कैदी के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। यह मामला कैदी के साथ जेल के जिम्मेदार जेलर और एक प्रहरी के रुपए मांगने और लट्ठ से बेहरहमी से मारपीट कर जख्मी करने का है। मामले में पीड़ित ने थानाधिकारी को भी कार्रवाई के लिए रिपोर्ट देकर जेलर और प्रहरी पर आरोप लगाया है। कैदी के साथ मारपीठ में उसके दोनो पैरों, गर्दन और पीठ पर गहरी चोंटें आई हैं। वहीं उसका एक पैर फ्रैक्चर हो गया है। साथ ही एक चोट के घाव गम्भीर होने के चलते डॉक्टर ने जांच रिजर्व रखी है।

कोर्ट से बाहर आया तो मारपीट का पता चला दरअसल, मीरिया पुत्र मोता गमार को शराब के किसी पुराने मामले में एक दिन के लिए जेसी किया गया था। मीरीया को आदेश के मुताबिक बुधवार को जब जेल से छोड़ा गया तो मामले का खुलासा हुआ। सामने आया कि मीरिया के साथ न्यायिक हिरासत जेल कोटडा में जेलर धर्मवीर और पुष्पेंद्र ने 10 हजार रुपये की मांग करते हुए लठ से मारपीट की। इसके बाद मामले में हस्तक्षेप करते हुए एडवोकेट हिम्मत तावाड़, एडवोकेट राजेंद्रसिंह, रूपलाल खेर, सवजीराम, पूर्व सरपंच भोजाराम सहित कई लोगों ने रिपोर्ट सौंपी। साथ ही मामले में कार्रवाई नहीं होने पर रैली और धरना प्रदर्शन की चेतावनी भी दी।

कैदी से मिला तक नहीं, जेल में नहीं था : जेलर इधर, इस मामले को लेकर कोटड़ा जेल के जेलर धर्मवीर सिंह ने कहा कि मामला जो बताया जा रहा है उस दौरान में वहां मौजूद भी नहीं था। उस दौरान पुलिस के लाए गए कैदी को किसने रिसीव किया और उसके साथ क्या हुआ इसका मुझे जानकारी नहीं है। ना ही मैं अब तक उस कैदी से मिला हूं। मामले में मेरा नाम आना पूरी तरह गलत

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA