द्रौपदी मुर्मू के प्रस्तावक बनेंगे राजस्थान के 5 विधायक, पिंडवाड़ा विधायक बेटी की शादी छोड़ दिल्ली गए

PALI SIROHI ONLINE

उदयपुर।पहली बार देश के राष्ट्रपति के लिए चुनी गई आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू के प्रस्ताव मेवाड़ के पांच आदिवासी विधायक बनेंगे। इसके लिए पांचों आदिवासी विधायकों को बीजेपी ने दिल्ली बुलाया है। गुरुवार को पांचों विधायक दिल्ली पहुंचे हैं। इनमें उदयपुर ग्रामीण विधानसभा से फूलसिंह मीणा, सलूम्बर से अमृतलाल मीणा, झाड़ोल से बाबूलाल खराड़ी, पिंडवाड़ा से समाराम गरासिया और गढ़ी से कैलाश मीणा को प्रस्तावक बनाया गया है।

ऐसा पहली बार हो रहा है कि कोई आदिवासी राष्ट्रपति का उम्मीदवार हो। उसी के चलते विधायक भी आदिवासी प्रस्तावक बनाए गए हैं। राजस्थान और गुजरात में आदिवासियों की बढ़ी संख्या है। राजस्थान में 25 और गुजरात में 27 आदिवासी सीटें हैं।

दो विधायकों के घर में शादी, एक के परिवार में बीमार विधायकों को बेहद शॉर्ट नोटिस पर प्रस्ताव बनाए जाने की जानकारी मिली। मगर इसके बावजूद विधायक प्रस्तावक बन दिल्ली जाने के लिए तैयार हो गए। खास बात ये है कि इनमें से पिंडवाड़ा विधायक समाराम गरासिया के बेटी की शादी बुधवार को ही हुई है। इनकी शादी में शामिल होने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आई थी। वहीं सलूम्बर विधायक अमृतलाल मीणा के परिवार में भी शादी है। मगर दोनों विधायक उसे छोड़ प्रस्ताव बन दिल्ली पहुंचे हैं।

आदिवासी खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं : फूलसिंह मीणा उदयपुर ग्रामीण से विधायक फूलसिंह मीणा ने बताया कि उनके परिवार में भी दो लोग बीमार हैं। मगर हमारे लिए यह काम ज्यादा महत्वपूर्ण है। फूलसिंह मीणा ने कहा कि पहली बार किसी आदिवासी को राष्ट्रपति बनने का मौका मिल रहा है। इससे हमारे परिवार और पूरे आदिवासी समाज में बेहद खुशी है। आदिवासी खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। ये हमारे लिए बहुत बड़ा मौका है। इसलिए हम अपना कर्तव्य निभाने पहले आए हैं।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA