शादी करने पर अड़ी दोनों युवतियां घर गईं: ढाई महीने पहले लिव इन रिलेशनशिप में रहने के लिए भागी थी

PALI SIROHI ONLINE

उदयपुर।उदयपुर कोर्ट में जीवनभर पति-पत्नी बनकर साथ रहने पर अड़ी दोनों युवतियां अपने परिजनों के साथ चली गई। लगातार समझाइश और परिजनों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद कोर्ट ने बुधवार को उन्हें अपने-अपने घर रहने के आदेश दिए। शपथ पत्र में दोनों युवतियों के परिजनों ने कहा है कि वे उन्हें अच्छे से रखेंगे। किसी प्रकार का दबाव नहीं बनाएंगे। किसी से भी मिलने या कही आने-जाने पर रोक-टोक नहीं करेगे। इसके बाद दोनों युवतियों ने भी सहमति जताई और परिजनों के साथ अजमेर रवाना हो गई। इस केस की सुनवाई 29 जून को फिर झाड़ोल कोर्ट में होगी।

दरअसल मंगलवार को झाड़ोल पुलिस दोनों युवतियों को लेकर कोर्ट पहुंची थी। दोनों बालिग युवतियों ने कहा था कि वे जीवन भर साथ रहना चाहती हैं। किसी से शादी नहीं करेगी। हम एक-दूसरे से प्यार करते हैं। परिजनों और समाज के सहमत नहीं होने से उन्हें घर छोड़कर भागना पड़ा। मंगलवार को सुनवाई पूरी नहीं हो पाने के बाद कोर्ट ने दोनों को नारी निकेतन भेज दिया था। 21 और 20 वर्षीय दोनों युवतियों को एक रात नारी निकेतन में रहना पड़ा। दोनों पिछले ढाई महीने से अपने घर से गायब थी। वे इंदौर, दिल्ली और उदयपुर समेत कई शहरों में परिवार से छिपकर रह रही थी।

बुधवार को सुनवाई के दौरान परिजनों ने शपथ पत्र पेश किया कि घर पर उन्हें अच्छे से रखा जाएगा। किसी रूप से दबाव नहीं डाला जाएगा। किसी से मिलने या आने-जाने पर रोकाटोकी नहीं करते हुए उनके हितों का पूरा ख्याल रखा जाएगा। दोनों युवतियों के परिजनों की ओर से मो. साबिर छिपा ने शपथ पत्र पेश करवाया।

मो. साबिर ने बताया कि दोनों युवतियां साथ रहना चाहती थी। लेकिन उनके परिजनों के नहीं मानने पर वो परिवार से नाराज होकर चली गई थी। परिजनों द्वारा समझाइश के बाद उन्होंने अपने-अपने घर जाने की इच्छा जताई। समलैंगिक विवाह जैसी कोई बात नहीं है। दोनों युवतियां ने लिव इन रिलेशनशिप से जुड़े भी कोई दस्तावेज कोर्ट में नहीं दिए। दोनों अपनी स्वेच्छा से साथ गई। कोर्ट के आदेश पर झाड़ोल पुलिस ने दोनों को दस्तयाब किया और अब उनके सहमति जताने पर घर भेजने के आदेश दिए है।

क्या था पूरा मामला अजमेर शहर की रहने वाली दो युवतियां एक ही समाज की हैं। 3 साल पहले सामाजिक कार्यक्रमों में दोनों की मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों का एक-दूसरे के घर आना-जाना शुरू हो गया। करीब ढाई महीने पहले दोनों जीवन भर साथ रहने के मकसद से घर से भाग गई थी। परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। परिजन ढूंढते ढूंढते उदयपुर पहुंचे। उन्हें दोनों के झाड़ोल में होने का पता चला। इसके बाद परिजनों ने झाड़ोल (उदयपुर) की एसीजीएम कोर्ट में जानकारी देकर गुमशुदा युवतियों के बारे में बताया। झाड़ोल कोर्ट के आदेश पर मंगलवार को पुलिस दोनों युवतियों को लेकर उदयपुर कोर्ट पहुंची थी।

पाली सिरोही ऑनलाइन के सोशियल मीडिया हैंडल से जुड़ें…

ट्विटर
twitter.com/SirohiPali

फेसबुक
facebook.com/palisirohionline

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें
https://youtube.com/channel/UCmEkwZWH02wdX-2BOBOFDnA