VIDEO: कांस्टेबल भर्ती परीक्षा देने जा रहे पति- पत्नी व भाई पर ट्रक पलटा, तीनों की दर्दनाक मौत

PALI SIROHI ONLINE

सीकर/ पलसाना. राजस्थान के सीकर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 52 पर गुरुवार रात को एक भीषण सड़क हादसे में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए घर से निकले पति- पत्नी व भाई की दर्दनाक मौत हो गई। हादसा मंढा मोड़ पर हुआ। जहां नांगल से डूंडलोद के लिए निकले तीनों बाइक सवारों पर एक डेयरी का ट्रक पलट गया। जिसके नीचे करीब एक घंटे तक दबे रहने से तीनों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। पुलिस के अनुसार मृतक नांगल निवासी बंशीधर उसका भाई दीपेश व उसकी पत्नी पिंकी है। जिनके शवों को खाटूश्यामजी की मोर्चरी में रखवाया गया है। जहां परिजनों के पहुंचने पर पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।
ट्रेक्टर को बचाने के फेर में हुआ हादसा
जानकारी के अनुसार हादसा रात करीब साढ़े आठ बजे हुआ। यहां मंढा मोड पर निजी डेयरी का दूध परिवहन करने वाला एक ट्रक जयपुर की तरफ से आ रहा था। सड़क के कट पर अचानक ट्रैक्टर के आने पर वह उसे बचाने के फेर में अनियंत्रित होकर बाइक पर पलट गया। ऐसे में बाइक पर सवार तीनों शख्स ट्रक के नीचे दब गए। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

एक घंटे बाद निकाले शव

हादसे की सूचना के बाद हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस के साथ ही खाटूश्यामजी और रानोली थाने का जाब्ता भी मौके पर पहुंच गया। इस दौरान पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से हाईवे की क्रेन के सहारे ट्रक को खड़ा करवा कर शव निकालने का प्रयास किया। लेकिन काफी प्रयास करने के बाद भी सफलता नहीं मिली। बाद में निजी क्रेन व जेसीबी बुलाकर शवों को बाहर निकाला गया। इस दौरान करीब एक घंटे से ज्यादा समय लग गया।

राजमार्ग पर लगा लंबा जाम

हादसे के बाद हाईवे पर एक तरफ का यातायात सड़क पर ट्रक के पलटने से बंद हो गया। ऐसे में ट्रैफिक को डायवर्ट कर एक की तरफ से निकाला गया। जिससे हादसे के बाद राजमार्ग पर लंबा जाम लग गया। बाद में ट्रक को मौके से हटाने के बाद भी काफी देर तक यातायात प्रभावित रहा।

परीक्षा के लिए निकले थे मृतक
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार हादसे में मृतक पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा देने के लिए जा रहे थे। वे गांव से झुंझुनूं के डूंडलोद गांव के लिए रवाना हुए थे। जहां रात को रुकने के बाद उन्हें शुक्रवार को परीक्षा में शामिल होना था। लेकिन, इससे पहले ही वे हादसे का शिकार हो गए। हादसे में क्षतिग्रस्त ट्रक में दूध, दही व छाछ जैसे डेयरी उत्पाद भरे हुए थे। ऐसे में ट्रक को खड़ा करने में काफी समय लगा। बाद में पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से ट्रक को खाली करवाया। जिससे काफी समय लग गया। इस दौरान सड़क के पास डेयरी उत्पादों का ढेर लग गया।