सात दिन में भाग गई दो दुल्हन, पूजा करने के बहाने वृंदावन बुलाया और फरार

PALI SIROHI ONLINE

जयपुर। जोबनेर के भीकावास गांव निवासी एक जने ने दो बेटों की लुटेरी दुल्हनों सहित छह जनों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने बताया कि सुरज्ञान ओला ने मामला दर्ज करवाया कि करीब एक साल पहले दिल्ली के एक होटल में कैंटीन चलाने वाले हरिओम से उसकी जान पहचान हुई थी। 6 माह पूर्व उसने फोन पर बताया कि उसकी जानकारी में दो लड़कियां हैं, जिनकी शादी उसके लड़कों के साथ करवा दूंगा। इसके एवज में पांच लाख रुपए देने होंगे।

हरिओम के कहे अनुसार सुरज्ञान लड़कियां देखने वृंदावन चला गया। इसके बाद हरिओम, गुड्डी, नरेश व एक अन्य उसके गांव भीकावास आए और लड़के देखकर चले गए। इसके बाद वह मालीराम खोखर, जगदीश, नवल किशोर, राहुल आदि के साथ वृंदावन गए और लड़कियों की गोद भराई कार्यक्रम किया। उसी समय हरिओम शर्मा को फोन-पे के जरिए 50 हजार दे दिए दिए। इसके बाद 24 अप्रेल 2022 को हरिओम शर्मा, गुड्डी देवी, नरेश, द्रविड़ उसके घर लगन लेकर आए। उसी समय गुड्डी को 50 हजार रुपए दिए, अगले दिन 1 लाख 30 हजार उसे फोन पे के जरिए भेजे।

26 अप्रेल को उसके पुत्र भंवर और मुकेश की बारात लेकर वृंदावन गए व उसके पुत्र मुकेश की शादी शिवानी एवं भंवर की शादी रेखा नाम की लड़की से करवा दी। इसी दौरान गुड्डी देवी को 2 लाख 30 हजार रुपए और दे दिए। इसके बाद वे रेखा व शिवानी को लेकर अपने गांव भीकावास आ गए। 30 अप्रेल को दुल्हन रेखा की भाभी ने फोन कर कहा कि रेखा व शिवानी को लेकर वृंदावन लाकर वैष्णो माता के धोक दिलवाने की बात कही। इस पर वह अपने बेटे मुकेश, भंवर, रेखा व शिवानी को लेकर वृंदावन चला गया।

वहां रेखा व शिवानी का भाई उनसे मिला। इस बीच उसके बेटे भंवर, मुकेश मंदिर चले गए। वापस आए तो दुल्हन रेखा व शिवानी नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने हरिओम, गुड्डी देवी व नरेश को इस बारे में बताया लेकिन उन्होंने कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया। पीडि़त ने शादी के नाम पर 4 लाख 10 हजार व 2 लाख के जेवरात हड़पने का मामला दर्ज कराया है।