राज ठाकरे का महाराष्ट्र सरकार को खुला चैलेंज: सत्ता हमेशा के लिए नहीं रहती; हमारे सब्र का इम्तिहान न लें, हमें जवाब देना आता है

PALI SIROHI ONLINE

मुंबई।महाराष्ट्र में जारी लाउडस्पीकर विवाद के बीच महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने सीएम उद्धव ठाकरे को चुनौती देते हुए एक ओपन लेटर लिखा है। राज ठाकरे ने इस लेटर में मनसे कार्यकर्ताओं के खिलाफ की जा रही कार्रवाई को अन्यायपूर्ण बताया है। राज ने कहा कि सत्ता हमेशा के लिए नहीं रहती है। हमारी सहनशीलता का इम्तिहान न लें, हमें भी इसका जवाब देना आता है।

उन्होंने आगे लिखा, ‘सरकार की यह कार्रवाई महाराष्ट्र के साथ पूरा हिंदू समाज देख रहा है। अभी तक लाउडस्पीकर को लेकर 28 हजार मनसे कार्यकर्ताओं को नोटिस दिया गया है। उन्हें ऐसे ढूंढा जा रहा है, मानों वह कोई आतंकी हों। सत्ता आती है और चली जाती है। ताकत की तांबे की थाली कोई नहीं लाया… उद्धव ठाकरे आप भी नहीं।’ इन क्रूर, दमनकारियों को देख रहा है हिंदू: राज राजे ने पत्र में आगे लिखा, ‘हमारे हजारों कार्यकर्ताओं को तड़ीपार किया और कइयों को जेल में डाल दिया है। किसलिए?, ध्वनि प्रदूषण को रोकने और मस्जिदों से अवैध लाउडस्पीकर हटाने की मांग करने के लिए पिछले हफ्ते में सरकार जिस तरह से महाराष्ट्र के सैनिकों को दबाने के लिए पुलिस बल का इस्तेमाल कर रही है, क्या राज्य सरकार या पुलिस ने कभी मस्जिदों में छिपे हथियार और आतंकियों को • खोजने के लिए ऐसा सर्च ऑपरेशन चलाया है? पुलिस हमारे साथी संदीप देशपांडे और कई अन्य कार्यकर्ताओं की ऐसे तलाश कर रही है, जैसे कि वे पाकिस्तान के आतंकवादी हों। सभी मराठी लोग, सभी हिंदू खुली आंखों से देख रहे हैं उन्हें, जिन्होंने पुलिस को महाराष्ट्र के सैनिकों के खिलाफ यह क्रूर, दमनकारी कार्रवाई करने का आदेश दिया है।’

दोनों ठाकरे भाइयों के बीच जारी है जुबानी जंग दोनों ठाकरे भाइयों के बीच मस्जिदों में लगे लाउडस्पीकर को लेकर जुबानी जंग जारी है। राज ने उद्धव को औरंगाबाद की रैली में चुनौती देते हुए जल्द राज्य की सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने का अल्टीमेटम दिया था। इसके बाद पुलिस ने रैली को लेकर एक मामला दर्ज किया है। हिंदुत्व और विचारधारा को लेकर राज ठाकरे लगातार शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर हमलावर हैं। उद्धव ठाकरे और संजय राउत ने कई बार राज ठाकरे को बीजेपी की ‘D’ टीम करार दिया है।

राज के अयोध्या जाने का हो रहा विरोध राज ठाकरे ने 5 जून को अयोध्या आकर राम मंदिर में दर्शन करने का ऐलान किया है। इस बीच भाजपा सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह ने उनके दौरे का विरोध करते हुए आज शक्ति प्रदर्शन किया। उन्होंने बड़ी संख्या में अपने समर्थकों के साथ रोड शो निकाला और कहा कि राज ठाकरे को अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं देंगे। ब्रजभूषण सिंह ने ठाकरे के विरोध को भाजपा से इतर अपना

• निजी मामला बताते हुए ऐलान किया, ‘मैं स्पष्ट कर दूं, मेरे इस विरोध का मेरी पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है, मैं पहले राम का वंशज हूं, फिर उत्तर भारतीय और सबसे बाद में भारतीय जनता पार्टी का सांसद।’ ‘राज ठाकरे दबंग नहीं हैं, वह चूहा हैं, चूहा’ ब्रजभूषण शरण सिंह ने मंगलवार को काफिले के साथ रोड शो करते हुए शक्ति प्रदर्शन किया। उन्होंने लोगों से राज ठाकरे के अयोध्या आगमन पर डटकर विरोध करने का आह्वान किया। उन्होंने ऐलान किया कि अब उत्तर भारतीयों का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

पत्रकारों से बातचीत में भाजपा सांसद ने कहा, राज ठाकरे दबंग नहीं हैं, वह चूहा हैं, चूहा’ सांसद ने दावा किया कि उन्हें मराठों का समर्थन प्राप्त है और वह छत्रपति शिवाजी महराज को अपना आदर्श मानते हैं।